Latest News Site

News

देश में मानव सेवा की मिसाल बना संत निरंकारी मिशन

देश में मानव सेवा की मिसाल बना संत निरंकारी मिशन
April 10
08:36 2020
  • कोरोना के कारण लाॅकडाउन के चलते देश भर में प्रभावित हजारों परिवारों को लंगर एवं राशन बांटने में संत निरंकारी मिशन अग्रसर
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की निरंकारी मिशन की तारीफ
  • दिल्ली में रोजाना 10 हजार लोगेां का खाना बना रहे हैं निरंकारी
  • हरियाणा एवं उत्तराखंड सरकार को दिए 50-50 लाख रुपये
  • प्रधानमंत्री राहत कोष समेत कई राज्यों के मुख्यमंत्री राहत कोषों में आर्थिक सहायता का योगदान

निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आर्शीवाद से संत निरंकारी मिशन के प्रबंधक एवं सेवादार संत देश भर के लाखों लाखों भाइयों और बहनों तक पहुचे जो कोरोना वायरस के वैश्विक प्रसार के कारण एवम देश में पूर्ण लाॅकडाउन से प्रभावित हुए है।

24 मार्च 2020 को जैसे ही भारत के प्रधानमंत्री ने देश भर में तालाबंदी की घोषणा की, संत निरंकारी मंडल को एहसास हुआ कि जरूरतमन्दों एवं उनके परिवारों के लिए जीवनावश्यक खाद्य पदार्थों की जरूरत होगी। अतः संत निरंकारी मंडल ने जरूरतमंद परिवारों को भोजन एवं राशन प्रदान करने के लिए पूरे भारतवर्ष में स्थापित मिशन के सभी 95 जोनों पर और 3000 से अधिक शाखाओं को खाद्य सामग्री एवम भोजन वितरण की सेवा का संदेश भेजा।

उस दिन से, निरंकारी मिशन के भक्त और संत निरंकारी सेवादल के स्वयंसेवक रोजाना लाखों लोगों को सूखा राशन और लंगर प्रदान कर रहे हैं। एक संगठन के रूप में, हर दिन लगभग 100000 लोगों को ताजा तैयार किया हुआ लंगर बाॅंटा जा रहा है। भारत के प्रमुख और यहां तक कि छोटे शहरों में भी निरंकारी मिशन की शाखाएं किसी न किसी तरह से योगदान दे रही है। कुछ चाय और बिस्किट वितरित कर रही है तो कुछ लंगर तैयार कर रही है। कुछ सूखे राशन की पेशकश कर रही है।

कई शाखाएॅं अपने-अपने क्षेत्रों में पुलिस और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं प्रशासनिक सेवाओं में लगे कर्मचारियों सहित जरूरतमन्दों के लिए भोजन, जलपान और चाय की सेवा कर रही है। मिशन की देश भर में फैली शाखाओं ने जरूरतमंद परिवारों को लगभग 100000 पैकेट सूखा राशन वितरित किया है। जबलपुर शाखा ने शहर के कलेक्टर को 4200 मास्क तैयार किए और सौंपे।

संत निरंकारी मिशन ने हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहतकोष में प्रत्येक को 50 लाख के साथ-साथ प्रधानमंत्री राहत कोष में पांच करोड़ रूपये का योगदान दिया है।

सभी संबंधित मुख्यमंत्रियों और माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने अपने ट्वीट के माध्यम से मिशन के इन योगदानों की सराहना और प्रशंसा की है।

दिल्ली-एनसीआर में सक्रिय रूप से भाग लेने वाली कुछ शाखाओं में निरंकारी काॅलोनी, रोहिणी, रोहतास नगर, मंगोल पुरी, मदनगीर, पीरा गढ़ी, महरौली, गीता काॅलोनी, माॅडल टाउन, सुल्तान पुरी, रानी बाग, प्रेम नगर, मुबारकपुर, मुखर्जी शामिल हैं। दिल्ली में नगर, हर्ष विहार, नंद नगरी, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा आदि। देशभर की शाखाओं में लुधियाना, अमृतसर, बरनाला, चंडीगढ़, कोटकापुरा, गुरदासपुर, पोटा साहिब, होशियारपुर, शिमला, राजपुरा, जम्मू, उधमपुर, जुलंधपुर, लोंगोवाल, पानीपत, करनाल, सोनीपत, हिसार, यमुनानगर, फतेहाबाद, बूंदी, जयपुर शामिल हैं। बाड़मेर, बीकानेर, अलवर, भीलवाड़ा, लक्ष्मणगढ़, श्रीगंगानगर, जैसलमेर, सिरोही, उदयपुर, जबलपुर, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, मुरैना, रीवा, सतना, मुंबई, पुणे, नागपुर, औरंगाबाद, नासिक, कोल्हापुर, सोलापुर, कोलकाता, बर्धमान, हावड़ा, कानपुर, लखनउ, आगरा, वाराणसी, झांसी, सहारनपुर, मसूरी, चंबा, देहरादून, राजगढ़, सिरमौर, कटनी, सूरत, अहमदाबाद, वडोदरा, बैंगलोर, हैदराबाद, पटना, नालंदा, गया, रांची, गोवा, रायपुर आदि सभी शाखाओं द्वारा जरूरतमंदों तक भोजन राशन राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है।

संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन द्वारा भी कई योगदान दिए जा रहे हैं। मिशन की यह सामाजिक कल्याण शाखा एक हेल्पलाइन के माध्यम से नागरिकों को चिकित्सा सलाह और सहायता प्रदान कर रही है, जिसमें मेदांता अस्पताल, गुरुग्राम सहित अन्य अस्पतालों के मेडिकोज के साथ मिशन के विभिन्न डाॅक्टरों द्वारा भाग लिया जा रहा है। संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन ने दिल्ली सरकार को 10000 पीपीई किट भी दिए हैं डाॅक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के लिए। फाउंडेशन ने प्रवासी श्रमिकों को राशन आदि प्रदान करने का काम किया है। संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन द्वारा चलाये जा रहे स्कूलों को कोरंेटिन केन्द्र के रूप में रखा गया है। ग्लोबल मेडिकल इमरजेंसी के इस पल में रक्तदान करने के लिए भी फाउंडेशन आगे आया है।

संत निरंकारी मिशन ने अपने सत्संग भवनों को भी राज्य या केन्द्र सरकार द्वारा जरूरत पड़ने पर कोरेंटिन केन्द्रों के रूप में उपलब्ध कराने की पेशकश की है। यमुना नगर भवन का उपयोग पहले से ही कोरेंटिन केन्द्र के रूप में किया जा रहा है।

संत निरंकारी मिशन द्वारा की जा रही सेवाओं एवम योगदान की सराहना समाज के अनेकोनेक वर्गों द्वारा की जा रही है, जिनमें आम आदमी, विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संगठन, पुलिस विभाग, स्थानीय प्रशासनिक प्रतिनिधि, राज्य सरकारें एवं केन्द्र सरकार शामिल हैं।

संत निरंकारी मिशन आध्यात्मिक जागरूकता के अपने मूल विचारधारा के साथ पिछले 90 वर्षों से समाज के सामाजिक उत्थान, राहत और पुनर्वास में योगदान दे रहा है। मिशन के पिछले गुरुओं के भांति इस पे्रम भाईचारे वाले मिशन को वर्तमान सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज भी मिशन को आगे लेकर जा रहे हैं। सद्गुरु माता जी ने भक्तों का मार्गदर्शन करते हुए कहा है कि हमें सेवा करते समय स्वास्थ्य एजेंसियों और सरकारी निर्देशों का बारीकियों से पालन करना है। सोशल डिस्टेंस रखते हुए मुंह पर मास्क हाथों में ग्लोब्ज पहन कर सेनिटाइजर का इस्तेमाल करते हुए सेवाएं निभानी हैं।

सद्गुरु माता जी का कहना है कि इस संसार में रहने वाले बहन-भाई सब अपने हैं और उनकी सेवा करना हमारा कर्तव्य है। हम किसी का अहसान नहीं कर रहें हैं।
मिशन देश के साथ खड़े होने की प्रतिज्ञा करता है, वर्तमान संकट को जल्द से जल्द दूर करने के लिए प्रार्थना करता है, ताकि चारों ओर खुशहाली हो।

संवाददाता

Government of india
Government of india
Bhatia Sports
Tanishq
Abhusan
Big Shop Baby Shop 2
Big Shop Baby Shop 1
TBZ
G.E.L Shop Association
Novelty Fashion Mall
Krsna Restaurant
Motilal Oswal
Chotanagpur Handloom
Kamalia Sales
Home Essentials
Raymond

About Author

Bhusan kumar

Bhusan kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    भारतीय एवं विश्व इतिहास में 25 मई की प्रमुख घटनाएं

भारतीय एवं विश्व इतिहास में 25 मई की प्रमुख घटनाएं

Read Full Article