Latest News Site

News

लॉकडाउन की अवधि बढ़ने तथा प्रधानमंत्री की अपील के बाद जम्मू-कश्मीर व लद्दाख की सड़कों पर पसरा संनाटा

लॉकडाउन की अवधि बढ़ने तथा प्रधानमंत्री की अपील के बाद जम्मू-कश्मीर व लद्दाख की सड़कों पर पसरा संनाटा
March 25
10:22 2020

जम्मू, 25 मार्च । कोरोना वायरस के विश्वव्यापी खतरे के चलते मंगलवार से 21 दिनों तक राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषणा व घरों की लक्ष्मण रेखा न लांघने की अपील के बाद जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए और सख्ती कर दी गई है।

बेरिकेटस व कंटीली तारे लगाकर लोगों की आवाजही को रोकने के साथ ही दोनों प्रदेशों में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। इस लॉकडाउन के दौरान जहां एक ओर कश्मीर घाटी में ड्रोन से लोगों पर नजर रखी जा रही है वहीं दूसरी ओर जम्मू व कश्मीर में लॉउड स्पीकरों के माध्यम से लोगों को उनके घरों में ही रहने की सलाह दी जा रही है तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने की सलाह दी जा रही है।

इस बीच सरकार द्वारा घोषित आश्यक सामान की दुकानें जिसमें दूध दही, किरयाना, पैट्रल पंप, चिकित्सा सेवाएं, टेलिकाम सेवाएं आदि लोगों को मिल रही हैं। बुधवार को बहुत कम लोग अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। सुरक्षाबलों के जवान लोगों से पहचान पत्र देखाने व काम का ब्यौरा मिलने के बाद ही उनके गंतव्य के लिए भेज रहे हैं। इसके साथ ही सुरक्षाबल यह भी सुनिश्चित कर रहे है कि सरकार द्वारा घोषित जरूरी वस्तुओं की दुकानों के अलावा अन्य दुकानें न खुले।
बुधवार को मां दुर्गा के चैत्र नवरात्र की शुरूआत हुई है। लेकिन कोरोना वायरस के राष्ट्रव्यापी खतरे को देखते हुए जम्मू व कश्मीर के सभी मंदिरों के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद रखे गए हैं।

भक्तों को अपने घरों से ही माता की पूजा-अर्चना करने की अपील की जा रही है। इसी बीच बुधवार को भी दुकानें, सार्वजनिक यातायात, नीजि तथा सरकारी कार्यालय, शिक्षा संस्थान, सिनेमाहाल, रेस्तरा, अंतर राज्य बस सेवा आदि बंद रहे । लोगों से अपील की जा रही है कि आवश्यक सामान की दुकानों पर भी लोग ज्यादा भीड़ न लगाएं और सामाजिक दूरी बनाकर ही सामान खरीदें ताकि कोरोना वायरस को रोकने में सफलता हासिल की जा सके। इसी बीच प्रशासन ने आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए एसआरटीसी की बसें शुरू कर दी हैं।

वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रभाव को थोड़ा कम करने के लिए आम जनता भी सामने आ रही है। करगिल के लोटू गांव के प्रवेश द्वार पर साबुन तथा पानी रखा गया है ताकि यहां आने वाला हर एक व्यक्ति अपने हाथ धोकर की गांव में प्रवेश करे।
बता दें कि जम्मू-कश्मीर में अभी तक कोरोना वायरस के 7 मामले सामने आए हैं जबकि लद्दाख में कोरोना वायरस के 13 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

(हि.स.)

TBZ
G.E.L Shop Association
Novelty Fashion Mall
Krsna Restaurant
Motilal Oswal
Chotanagpur Handloom
Kamalia Sales
Home Essentials
Raymond

About Author

Prashant Kumar

Prashant Kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    WHO South-East Asia Region needs 1.9 mn more nurses, midwives

WHO South-East Asia Region needs 1.9 mn more nurses, midwives

Read Full Article