अफ़ग़ानिस्तान में हुए आत्मघाती हमले की कड़ी भर्त्सना

संयुक्त राष्ट्र ने, अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी हिस्से में, शुक्रवार को हुए एक आत्मघाती हमले की कड़े शब्दों में भर्त्सना की है. उस हमले में कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज़्यादा घायल हो गए. हताहतों में महिलाएँ और बच्चे भी हैं.

UN outraged by suicide-vehicle blast at a guesthouse in Pul-e Alam #Logar last night which killed 21 men & injured more than 100 other persons, including 16 children & 12 women, according to preliminary findings. Our thoughts are with the families of the victims.— UNAMA News (@UNAMAnews) May 1, 2021

मीडिया ख़बरों के अनुसार, विस्फोटकों से भरे एक ट्रक में, लोगार प्रान्त की राजधानी पुली ए आलम में, शुक्रवार शाम को एक गेस्ट हाउस में धमाका किया गया.
ये स्थान देश की राजधानी काबुल से लगभग 70 किलोमीटर दक्षिण में है. हताहतों में अनेक छात्र भी बताए गए हैं.
ये विस्फोट उस समय हुआ जब लोग, रमज़ान महीने में दैनिक व्रत (रोज़ा) रखने के बाद, शाम को इफ़्तार (नाश्ता) करने के लिये इकट्ठा हुआ थे.
इस विस्फोट में अनेक इमारतों को भी भारी नुक़सान पहुँचा है, जिनमें एक अस्पताल भी है.
यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अपने प्रवक्ता द्वारी एक वक्तव्य में, हताहतों के परिवारों के साथ-साथ देश की सरकार और वहाँ के लोगों के साथ शोक व्यक्त किया है.
वक्तव्य में कहा गया है, “उन्होंने उम्मीद जताई है कि रमदान महीना दरअसल चिन्तन-मनन और करुणा का एक मौक़ा है जिसे दौरान उन लोगों के साथ एकजुटता दिखाने और उनका तकलीफ़ बाँटने के एक अवसर के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा जो लोग, देश में कई दशकों से चल रहे संघर्ष से प्रभावित हुए हैं.” 
“साथ ही, इस मौक़े पर, लोग एकजुट होकर, शान्ति के लिये ने सिरे से प्रयास करेंगे.”
अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र के सहायता मिशन ने एक अलग सन्देश में कहा है कि वो इस हमले पर बहुत क्रुद्ध है.
मिशन ने कहा है, “प्रभावितों के परिवजनों के प्रति हमारी पूरी हमदर्दी है.”, संयुक्त राष्ट्र ने, अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी हिस्से में, शुक्रवार को हुए एक आत्मघाती हमले की कड़े शब्दों में भर्त्सना की है. उस हमले में कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज़्यादा घायल हो गए. हताहतों में महिलाएँ और बच्चे भी हैं.

मीडिया ख़बरों के अनुसार, विस्फोटकों से भरे एक ट्रक में, लोगार प्रान्त की राजधानी पुली ए आलम में, शुक्रवार शाम को एक गेस्ट हाउस में धमाका किया गया.

ये स्थान देश की राजधानी काबुल से लगभग 70 किलोमीटर दक्षिण में है. हताहतों में अनेक छात्र भी बताए गए हैं.

ये विस्फोट उस समय हुआ जब लोग, रमज़ान महीने में दैनिक व्रत (रोज़ा) रखने के बाद, शाम को इफ़्तार (नाश्ता) करने के लिये इकट्ठा हुआ थे.

इस विस्फोट में अनेक इमारतों को भी भारी नुक़सान पहुँचा है, जिनमें एक अस्पताल भी है.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अपने प्रवक्ता द्वारी एक वक्तव्य में, हताहतों के परिवारों के साथ-साथ देश की सरकार और वहाँ के लोगों के साथ शोक व्यक्त किया है.

वक्तव्य में कहा गया है, “उन्होंने उम्मीद जताई है कि रमदान महीना दरअसल चिन्तन-मनन और करुणा का एक मौक़ा है जिसे दौरान उन लोगों के साथ एकजुटता दिखाने और उनका तकलीफ़ बाँटने के एक अवसर के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा जो लोग, देश में कई दशकों से चल रहे संघर्ष से प्रभावित हुए हैं.” 

“साथ ही, इस मौक़े पर, लोग एकजुट होकर, शान्ति के लिये ने सिरे से प्रयास करेंगे.”

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र के सहायता मिशन ने एक अलग सन्देश में कहा है कि वो इस हमले पर बहुत क्रुद्ध है.

मिशन ने कहा है, “प्रभावितों के परिवजनों के प्रति हमारी पूरी हमदर्दी है.”

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *