अमेरिका: वैश्विक स्वास्थ्य में फिर से अहम भूमिका निभाने की घोषणा

अमेरिका के शीर्ष चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने कहा है कि अमेरिका, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) द्वारा, कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिये निर्धन देशों की मदद के उद्देश्य से शुरू की गई पहल में शामिल होने के लिये तैयार है. इसके अतिरिक्त उन्होंने सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल सुलभता और गर्भपात सेवाओं सहित अन्य स्वास्थ्य उपायों के समर्थन में खड़े होने का संकल्प व्यक्त किया है. 

डॉक्टर फ़ॉउची ने गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि नए राष्ट्रपति जो बाइडेन जल्द ही एक निर्देश जारी करेंगे जिसके बाद देश कोवैक्स मंच में शामिल हो जाएगा. 
इस पहल का लक्ष्य कोरोनावायरस टीकों के न्यायसंगत वितरण, उपचार और निदान सर्वजन के लिये सुनिश्चित करने में बहुपक्षीय प्रयासों को बढ़ावा देना है.

.@DrTedros’ remarks at #EB148 Day 4 👇 https://t.co/OWji2veFyC pic.twitter.com/Kg15YPbedW— World Health Organization (WHO) (@WHO) January 21, 2021

ग़ौरतलब है कि अमेरिका में एक वर्ष पहले यानि वर्ष 2020 में, लगभग इन्हीं दिनों संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि हुई थी. दुनिया भर में, कोविड-19 के संक्रमण मामलों की संख्या अब बढ़कर 9 करोड़ से ज़्यादा हो गई है. 
डॉक्टर फ़ॉउची ने माना कि कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई और वैश्विक स्वास्थ्य की पुनर्बहाली व स्वास्थ्य सुरक्षा को दुनिया भर में बढ़ावा देना सरल नहीं होगा.
उन्होंने कहा कि अमेरिका पारदर्शिता के लिये संकल्पबद्ध है, उन घटनाओं के लिये भी जोकि महामारी के शुरुआती दिनों में सामने आईं.
अमेरिकी विशेषज्ञ ने स्पष्ट किया कि यह ज़रूरी है कि अहम सबक़ सीखे जाएँ ताकि भविष्य में पेश आने वाली चुनौतियों व महामारियों की रोकथाम की जा सके. 
“अन्तरराष्ट्रीय जाँच स्फूर्तिवान और अधिक स्पष्ट होनी चाहिये, और हम इसके मूल्याँकन के लिये तैयार हैं.” 
डॉक्टर फ़ाउची ने वैश्विक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अब तक हासिल की गई प्रगति में हुए क्षरण का मुकाबला करने के लिये अन्य देशों के साथ मिलकर काम करने की घोषणा की है.
इस विषय में उन्होंने विशेष रूप से एचआईवी / एड्स, खाद्य सुरक्षा, मलेरिया और महामारी सम्बन्धी तैयारियों का उल्लेख किया है.
अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा कि यह हमारी नीति होगी कि महिलाओं और लड़कियों के यौन व प्रजनन स्वास्थ्य और अमेरिका व विश्व भर में, प्रजनन अधिकारों का समर्थन किया जाए.
डॉक्टर फ़ाउची के मुताबिक अमेरिका यूएन एजेंसी के सदस्य देश के तौर पर रचनात्मक रूप से संगठन को मज़बूत करने और महत्वपूर्ण सुधार लाने के लिये काम करेगा.
साथ ही कोविड-19 पर अन्तरराष्ट्रीय जवाबी कार्रवाई और लोगों, समुदायों व स्वास्थ्य प्रणालियों पर इसके प्रभावों से निपटने के लिये सामूहिक प्रयास का नेतृत्व करने का संकल्प पेश किया गया है. 
देशों का परिवार
विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार सम्भालने पर जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, और अमेरिकी जनता को बधाई दी है.
“राष्ट्रपति बाइडेन, WHO में अमेरिकी सदस्यता को बरक़रार रखने के लिये, अपने संकल्प को पूरा करने के लिये आपको धन्यवाद.”
“और एक्सेस टू कोविड-19 टूल्स एक्सेलेरेटर व कोवैक्स में शामिल होने के संकल्प के लिये आपका शुक़्रिया.”
उन्होंने ध्यान दिलाते हुए कहा कि वर्ष 1948 में विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना के बाद से ही अमेरिका ने वैश्विक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अहम भूमिका निभाई है.
यूएन एजेंसी ने दशकों से चले आ रहे योगदान को रेखांकित करते हुए इस साझेदारी को आगे भी जारी रखने की बात कही है. 
उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन देशों का एक परिवार है, और कि हमें प्रसन्नता है कि अमेरिका इस परिवार में बना हुआ है.
“यह विश्व स्वास्थ्य संगठन के लिये एक अच्छा दिन है, और वैश्विक स्वास्थ्य के लिये अच्छा दिन है.”
यूएन एजेंसी प्रमुख ने कहा कि वर्ष 2021 के पहले 100 दिनों में सभी देशों में स्वास्थ्यकर्मियों और कोविड-19 के संक्रमण का ज़्यादा जोखिम झेल रहे लोगों के टीकाकरण को सुनिश्चित किया जाना होगा. 
इस क्रम में उन्होंने एक परिवार के रूप में साथ मिलकर कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया है और आभार जताया है कि राष्ट्रपति बाइडेन की घोषणा से इस लक्ष्य की ओर एक क़दम आगे बढ़ाया गया है. 
“वैश्विक महामारी के अन्त और वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की लम्बी सूची पर काम करने के लिये हमें बहुत काम करना है और सबक़ सीखने हैं. लेकिन आपका साथ मिलने पर, दुनिया इनसे बेहतर ढँग से निपटने में सक्षम होगी.”
यूएन एजेंसी प्रमुख ने राष्ट्रपति जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, नए अमेरिकी प्रशासन और अमेरिकी जनता को कोविड-19 महामारी से पुख़्ता तौर पर निपटने के लिये विज्ञान, समाधान, एकजुटता और सेवा पर आधारित सहयोग का भरोसा दिलाया है., अमेरिका के शीर्ष चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने कहा है कि अमेरिका, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) द्वारा, कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिये निर्धन देशों की मदद के उद्देश्य से शुरू की गई पहल में शामिल होने के लिये तैयार है. इसके अतिरिक्त उन्होंने सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल सुलभता और गर्भपात सेवाओं सहित अन्य स्वास्थ्य उपायों के समर्थन में खड़े होने का संकल्प व्यक्त किया है. 

डॉक्टर फ़ॉउची ने गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि नए राष्ट्रपति जो बाइडेन जल्द ही एक निर्देश जारी करेंगे जिसके बाद देश कोवैक्स मंच में शामिल हो जाएगा. 

इस पहल का लक्ष्य कोरोनावायरस टीकों के न्यायसंगत वितरण, उपचार और निदान सर्वजन के लिये सुनिश्चित करने में बहुपक्षीय प्रयासों को बढ़ावा देना है.

ग़ौरतलब है कि अमेरिका में एक वर्ष पहले यानि वर्ष 2020 में, लगभग इन्हीं दिनों संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि हुई थी. दुनिया भर में, कोविड-19 के संक्रमण मामलों की संख्या अब बढ़कर 9 करोड़ से ज़्यादा हो गई है. 

डॉक्टर फ़ॉउची ने माना कि कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई और वैश्विक स्वास्थ्य की पुनर्बहाली व स्वास्थ्य सुरक्षा को दुनिया भर में बढ़ावा देना सरल नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि अमेरिका पारदर्शिता के लिये संकल्पबद्ध है, उन घटनाओं के लिये भी जोकि महामारी के शुरुआती दिनों में सामने आईं.

अमेरिकी विशेषज्ञ ने स्पष्ट किया कि यह ज़रूरी है कि अहम सबक़ सीखे जाएँ ताकि भविष्य में पेश आने वाली चुनौतियों व महामारियों की रोकथाम की जा सके. 

“अन्तरराष्ट्रीय जाँच स्फूर्तिवान और अधिक स्पष्ट होनी चाहिये, और हम इसके मूल्याँकन के लिये तैयार हैं.” 

डॉक्टर फ़ाउची ने वैश्विक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अब तक हासिल की गई प्रगति में हुए क्षरण का मुकाबला करने के लिये अन्य देशों के साथ मिलकर काम करने की घोषणा की है.

इस विषय में उन्होंने विशेष रूप से एचआईवी / एड्स, खाद्य सुरक्षा, मलेरिया और महामारी सम्बन्धी तैयारियों का उल्लेख किया है.

अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा कि यह हमारी नीति होगी कि महिलाओं और लड़कियों के यौन व प्रजनन स्वास्थ्य और अमेरिका व विश्व भर में, प्रजनन अधिकारों का समर्थन किया जाए.

डॉक्टर फ़ाउची के मुताबिक अमेरिका यूएन एजेंसी के सदस्य देश के तौर पर रचनात्मक रूप से संगठन को मज़बूत करने और महत्वपूर्ण सुधार लाने के लिये काम करेगा.

साथ ही कोविड-19 पर अन्तरराष्ट्रीय जवाबी कार्रवाई और लोगों, समुदायों व स्वास्थ्य प्रणालियों पर इसके प्रभावों से निपटने के लिये सामूहिक प्रयास का नेतृत्व करने का संकल्प पेश किया गया है. 

देशों का परिवार

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार सम्भालने पर जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, और अमेरिकी जनता को बधाई दी है.

“राष्ट्रपति बाइडेन, WHO में अमेरिकी सदस्यता को बरक़रार रखने के लिये, अपने संकल्प को पूरा करने के लिये आपको धन्यवाद.”

“और एक्सेस टू कोविड-19 टूल्स एक्सेलेरेटर व कोवैक्स में शामिल होने के संकल्प के लिये आपका शुक़्रिया.”

उन्होंने ध्यान दिलाते हुए कहा कि वर्ष 1948 में विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना के बाद से ही अमेरिका ने वैश्विक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अहम भूमिका निभाई है.

यूएन एजेंसी ने दशकों से चले आ रहे योगदान को रेखांकित करते हुए इस साझेदारी को आगे भी जारी रखने की बात कही है. 

उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन देशों का एक परिवार है, और कि हमें प्रसन्नता है कि अमेरिका इस परिवार में बना हुआ है.

“यह विश्व स्वास्थ्य संगठन के लिये एक अच्छा दिन है, और वैश्विक स्वास्थ्य के लिये अच्छा दिन है.”

यूएन एजेंसी प्रमुख ने कहा कि वर्ष 2021 के पहले 100 दिनों में सभी देशों में स्वास्थ्यकर्मियों और कोविड-19 के संक्रमण का ज़्यादा जोखिम झेल रहे लोगों के टीकाकरण को सुनिश्चित किया जाना होगा. 

इस क्रम में उन्होंने एक परिवार के रूप में साथ मिलकर कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया है और आभार जताया है कि राष्ट्रपति बाइडेन की घोषणा से इस लक्ष्य की ओर एक क़दम आगे बढ़ाया गया है. 

“वैश्विक महामारी के अन्त और वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की लम्बी सूची पर काम करने के लिये हमें बहुत काम करना है और सबक़ सीखने हैं. लेकिन आपका साथ मिलने पर, दुनिया इनसे बेहतर ढँग से निपटने में सक्षम होगी.”

यूएन एजेंसी प्रमुख ने राष्ट्रपति जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, नए अमेरिकी प्रशासन और अमेरिकी जनता को कोविड-19 महामारी से पुख़्ता तौर पर निपटने के लिये विज्ञान, समाधान, एकजुटता और सेवा पर आधारित सहयोग का भरोसा दिलाया है.

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *