‘एक बेहतर कल बनाने में सभी की है अहम भूमिका’

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर ने दुनिया भर के हर एक इनसान से, कोरोनावायरस महामारी का ख़ात्मा करने, और एक समावेशी व टिकाऊ भविष्य बनाने की ख़ातिर, एकजुट होकर काम करते रहने का आग्रह किया है. 

We have made it through a dark period in history, but there are brighter days ahead. In 2021, there is only one New Year’s resolution that has the power to change the course of history & that is to work together to create a better world for all. I wish you a very happy New Year. pic.twitter.com/IkCu0YKmzd— UN GA President (@UN_PGA) December 29, 2020

यूएन महासभा अध्यक्ष ने अपने नव वर्ष सन्देश में कहा कि हर एक व्यक्ति, समुदाय, और देश को, असमानताएँ कम करने, सबसे कमज़ोर हालात में रहने वाले लोगों को हिफ़ाज़त मुहैया कराने, और अधिक न्यायसंगत व सुरक्षित समाजों का सृजन करने में, अपनी-अपनी भूमिका निभानी है, स्थानीय और वैश्विक स्तर पर.
उन्होंने यूएन चार्टर की प्रस्तावना में उल्लिखित शब्दों का उद्धरण करते हुए कहा, “’हम लोग’ लचीले और मज़बूत हैं. एकजुटता के माध्यम से, हम, दुनिया भर में शान्ति स्थापित कर सकते हैं, मानवाधिकार और हर एक इनसान की विशिष्ट गरिमा, क़ायम रख सकते हैं, और टिकाऊ विकास लक्ष्य लागू कर सकते हैं.”
एक दूसरे का ख़याल
वोल्कान बोज़किर ने वर्ष 2020 में, मानवता के सामने आई चुनौतियों का ज़िक्र करते हुए, नव वर्ष 2021 के कुछ बेहतर होने की आशा व्यक्त की.
उन्होंने कहा, “हम गौर्वान्वित महसूस कर सकते हैं कि बीते वर्ष के दौरान, हमने, इनसानों के रूप में, अपने पड़ोसियों का ख़याल रखा.”
“ये इतिहास का एक काला दौर था, जिसमें से हम सभी निकलकर आए हैं, मगर, अगले वर्ष 2021 में, कुछ बेहतर दिन भी हमारी उम्मीदों का हिस्सा हैं, सभी के लिये उपलब्ध होने वाली वैक्सीन जारी की जा रही हैं, जो इनसानियत को बचाए रखने के, हमारे सामूहिक प्रयासों में बहुत अहम और बुनियादी साबित होंगी.”
असम्भव को हासिल करने की शक्ति
यूएन महासभा के अध्यक्ष ने, असम्भव नज़र आने वाले लक्ष्य या परिणाम हासिल करने में, “मानवता की शक्ति” की ज़ोरदार सराहना की, “जैसाकि 75 वर्ष पहले, संयुक्त राष्ट्र के संस्थापकों ने करके दिखाया था.”
उन्होंने कहा, “2021 में, केवल एक ही नव वर्ष संकल्प हो सकता है, जिसमें इतिहास का रुख़ भी मोड़ देने की ताक़त है, और वो है, सभी इनसानों की ख़ातिर एक बेहतर दुनिया बनाने के लिये, एकजुट होकर काम करना.”, संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर ने दुनिया भर के हर एक इनसान से, कोरोनावायरस महामारी का ख़ात्मा करने, और एक समावेशी व टिकाऊ भविष्य बनाने की ख़ातिर, एकजुट होकर काम करते रहने का आग्रह किया है. 

यूएन महासभा अध्यक्ष ने अपने नव वर्ष सन्देश में कहा कि हर एक व्यक्ति, समुदाय, और देश को, असमानताएँ कम करने, सबसे कमज़ोर हालात में रहने वाले लोगों को हिफ़ाज़त मुहैया कराने, और अधिक न्यायसंगत व सुरक्षित समाजों का सृजन करने में, अपनी-अपनी भूमिका निभानी है, स्थानीय और वैश्विक स्तर पर.

उन्होंने यूएन चार्टर की प्रस्तावना में उल्लिखित शब्दों का उद्धरण करते हुए कहा, “’हम लोग’ लचीले और मज़बूत हैं. एकजुटता के माध्यम से, हम, दुनिया भर में शान्ति स्थापित कर सकते हैं, मानवाधिकार और हर एक इनसान की विशिष्ट गरिमा, क़ायम रख सकते हैं, और टिकाऊ विकास लक्ष्य लागू कर सकते हैं.”

एक दूसरे का ख़याल

वोल्कान बोज़किर ने वर्ष 2020 में, मानवता के सामने आई चुनौतियों का ज़िक्र करते हुए, नव वर्ष 2021 के कुछ बेहतर होने की आशा व्यक्त की.

उन्होंने कहा, “हम गौर्वान्वित महसूस कर सकते हैं कि बीते वर्ष के दौरान, हमने, इनसानों के रूप में, अपने पड़ोसियों का ख़याल रखा.”

“ये इतिहास का एक काला दौर था, जिसमें से हम सभी निकलकर आए हैं, मगर, अगले वर्ष 2021 में, कुछ बेहतर दिन भी हमारी उम्मीदों का हिस्सा हैं, सभी के लिये उपलब्ध होने वाली वैक्सीन जारी की जा रही हैं, जो इनसानियत को बचाए रखने के, हमारे सामूहिक प्रयासों में बहुत अहम और बुनियादी साबित होंगी.”

असम्भव को हासिल करने की शक्ति

यूएन महासभा के अध्यक्ष ने, असम्भव नज़र आने वाले लक्ष्य या परिणाम हासिल करने में, “मानवता की शक्ति” की ज़ोरदार सराहना की, “जैसाकि 75 वर्ष पहले, संयुक्त राष्ट्र के संस्थापकों ने करके दिखाया था.”

उन्होंने कहा, “2021 में, केवल एक ही नव वर्ष संकल्प हो सकता है, जिसमें इतिहास का रुख़ भी मोड़ देने की ताक़त है, और वो है, सभी इनसानों की ख़ातिर एक बेहतर दुनिया बनाने के लिये, एकजुट होकर काम करना.”

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *