Latest News Site

News

केंद्र की ”मातृ वंदना” में 88 प्रतिशत लक्ष्‍य प्राप्‍त करने में सफल रहा भोपाल संभाग

केंद्र की ”मातृ वंदना” में  88 प्रतिशत लक्ष्‍य प्राप्‍त करने में सफल रहा भोपाल संभाग
February 25
08:44 2020

भोपाल, 25 फरवरी । मध्‍यप्रदेश का भोपाल संभाग गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के कल्याण के लिए ”प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना” में अपने लक्ष्‍य को इस वित्‍त‍िय वर्ष में पूरा करता दिख रहा है। अब तक मप्र सरकार के प्रयासों से केंद्र की यह योजना 88 प्रतिशत वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में सफल रही है।

उल्‍लेखनीय है कि यह मोदी सरकार की माताओं को लाभ देनेवाली एक सफलतम योजना है। मातृ वंदना योजना में काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित किया जाता है। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से उन्‍हें स्‍वस्‍थ माहौल देना भी इस योजना का प्रमुख उद्देश्‍य है । इस योजना के तहत गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिला व माताओं को 6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जोकि सीधे उनके खाते में जाती है।

इस संबंध में सहायक संचालक जनसंपर्क अनुराग उइके ने बताया कि कमिश्नर भोपाल श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव द्वारा इस केन्द्र प्रवर्तित योजना का लाभ भोपाल संभाग को अधिकतम मिले इसको ध्यान में रखकर महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक समय समय पर की जाती है। हाल ही में की गई समीक्षा के दौरान जानकारी निकलकर आई है कि भोपाल संभाग ने कुल भौतिक लक्ष्य 67040 के विरूद्ध 51701 उपलब्धि प्राप्त कर 78 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति की। संभाग में इसी तरह इस योजना में 88 प्रतिशत वित्तीय लक्ष्यों की भी प्राप्ति की गई है।

जनसंपर्क अधिकारी उइके ने कहा कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत मिल रही राशि का समेकित लाभ गर्भवती महिलाओं का प्राप्त हो रहा है। इस तरह की योजनाएं राज्य में मातृ मृत्यु दर को कम करने की दिशा में महत्वपूर्ण एवं कारगर कदम है। जहां तक इस योजना के उददेश्य की बात है तो गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान महिलाओं को जागरूक करना और जच्चा-बच्चा देखभाल और संस्थागत सेवा के उपयोग को बढ़ावा देना। महिलाओं को पहले छह महीनों के लिए प्रारंभिक और विशेष स्तनपान और पोषण प्रथाओं का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करना और गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को बेहतर स्वास्थ्य और पोषण के लिए नकद प्रोत्साहन प्रदान करना है। उन्‍होंने कहा कि योजना मप्र में पूरी तरह से सफल साबित हो रही है।

उनका कहना यह भी था कि सभी गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए पात्र मानी गई हैं। योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी है कि महिला की उम्र 19 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। हां, एक बात ध्यान करने वाली यह है कि सरकारी कर्मचारी, किसी अन्य कानून से लाभ पा रही प्राइवेट कर्मचारी या फिर पहले सभी किस्तें पा चुकी महिला को इसके लाभ से वंचित रहना होगा।

सरकारी कर्मचारी की सेवाशर्तों में वेतन सहित मातृत्व अवकाश जैसे लाभ पहले से ही जुड़े होते हैं जबकि प्राइवेट संस्थान में काम करने वाली महिला अगर किसी अन्य कानून के तहत मातृत्व लाभ की सुविधा प्राप्त कर रही है तो वह भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त नहीं कर सकती है। साथ ही साथ किसी अन्य योजना का लाभ ले रही या फिर इसी योजना के तहत लाभ ले चुकीं महिलाओं को भी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से वंचित रहना पड़ सकता है। कुछ निश्चित श्रेणियों को छोड़कर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सहायिका और आशा इस योजना का लाभ लेती हैं।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को लोकप्रिय बनाने के लिए आशा और तमाम समाज सेवी संगठनों के जरिए लोगों को जागरूक किया जाता है। वर्ष 2019 के सितंबर में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से यह दावा किया गया है कि इस योजना के तहत कुल 4000 करोड़ से अधिक की राशि लाभार्थियों को वितरित कर दी गई है।

तीन किस्तों में मिलती है मदद राशि
पहली किस्त- यह किस्त 1000 की होती है जो कि गर्भावस्था के दौरान पंजीकरण के समय प्रदान की जाती है। दूसरी किस्त- इस किस्त को गर्भावस्था के 6 महीने बाद और प्रसव के पहले दिया जाता है। दूसरी किस्त में लाभार्थी को 2000 मिलते हैं। तीसरी किस्त- तीसरी किस्त बच्चे के जन्म और उसके पंजीकरण तथा तमाम टीकाकरण के प्रथम चक्र पूरा होने पर मिलती है। इसके तहत लाभार्थी को 2000 दिए जाते हैं।हां, रुपए 1000 का अतिरिक्त लाभ जननी सुरक्षा योजना के तहत महिला को प्रसव के ही दौरान दे दिया जाता है।

(हि.स.)

TBZ
G.E.L Shop Association
Novelty Fashion Mall
Krsna Restaurant
Motilal Oswal
Chotanagpur Handloom
Kamalia Sales
Home Essentials
Raymond

About Author

Prashant Kumar

Prashant Kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    Exclusive Photos National /International By Insight Online News

Exclusive Photos National /International By Insight Online News

Read Full Article