Get Latest News In English And Hindi – Insightonlinenews

News

जियो प्लेटफॉर्म्स में इंटेल कैपिटल का 1894 करोड़ रुपये निवेश, 11 सप्ताह में 12 वां निवेश

July 03
14:31 2020
जियो प्लेटफॉर्म्स में इंटेल कैपिटल का 1894 करोड़ रुपये निवेश, 11 सप्ताह में 12 वां निवेश 1

नयी दिल्ली, 03 जुलाई : रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूरी तरह ऋणमुक्त होने के बाद भी धनकुबेर मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला जारी है और शुक्रवार को अमेरिकी की इंटेल कैपिटल ने 0.39 प्रतिशत इक्विटी के लिए कंपनी में 1,894.5 करोड़ रुपये निवेश का ऐलान किया।

जियो प्लेटफॉर्म्स में ग्यारह सप्ताह में दुनिया भर से फेसबुक समेत 12 निवेश प्रस्तावों के जरिए 25.09 प्रतिशत इक्विटी के लिए 1,17,588.45 लाख करोड़ का निवेश हो चुका है।

इंटेल कैपिटल दुनिया भर में बेहतरीन कम्प्यूटर चिप बनाने के लिए जानी जाती है। इंटेल कैपिटल का जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश 4.91 लाख करोड़ रुपये के इक्विटी मूल्यांकन और 5.16 लाख करोड़ रुपये के उद्यम कीमत पर हुआ है।

जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और सिल्वर लेक ने अतिरिक्त निवेश किया था। बाद में अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी ,टीपीजी, एल कैटरटन और पीआईएफ ने भी निवेश की घोषणा की थी।

इंटेल कैपिटल इनोवेटिव कंपनियों में विश्व स्तर पर निवेश करने के साथ, क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और 5 जी जैसे प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में काम करती है, जहां जियो भी कार्यरत है। इंटेल कैपिटल, इंटेल कॉर्पोरेशन की निवेश इकाई है। इंटेल दो दशकों से अधिक समय से भारत में काम कर रही है और उसके बेंगलुरु और हैदराबाद में अत्याधुनिक डिजाइन सुविधाओं वाली इकाइयों में हजारों कर्मचारियों काम कर रहे हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री अंबानी ने इंटेल कैपिटल के निवेश पर कहा, “दुनिया के प्रौद्योगिकी लीडर्स के साथ हमारे संबंध और अधिक प्रगाढ़ होने पर हम बेहद खुश हैं। भारत को दुनिया में एक अग्रणी डिजिटल समुदाय में तबदील करने.के हमारे दृष्टिकोण को मूर्त रूप देने में ये हमारे सहायक हैं। इंटेल एक सच्चा इंडस्ट्री लीडर है, जो दुनिया को बदलने वाली तकनीक और नवाचारों को बनाने की दिशा में काम कर रहा है। वैश्विक स्तर पर इंटेल कैपिटल के पास अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों में एक मूल्यवान भागीदार होने का उत्कृष्ट रिकॉर्ड है। इसलिए हम अत्याधुनिक तकनीकों में भारत की क्षमताओं को आगे बढ़ाने के लिए इंटेल के साथ मिलकर काम करने के लिए उत्साहित हैं जो हमारी अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को सशक्त बनाएगा और 130 करोड़ भारतीयों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेगा। “

इंटेल कैपिटल के अध्यक्ष वेंडेल ब्रूक्स ने कहा, “भारत में कम लागत वाली डिजिटल सेवाओं को ताकत देने के लिए जियो प्लेटफ़ॉर्म्स अपनी प्रभावशाली इंजीनियरिंग क्षमताओं का उपयोग कर रहा है। यह जीवन को समृद्ध बनाने के इंटेल के उद्देश्य के समरूप है। हमारा मानना है कि डिजिटल पहुंच और डेटा, व्यापार और समाज को बेहतर बना सकते हैं। इस निवेश के माध्यम से भारत में डिजिटल परिवर्तन को हम ताकत देंगे।”

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की अगली पीढ़ी की पूर्ण स्वामित्व वाली प्रौद्योगिकी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल समुदाय बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर एक हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की अनुषंगी इकाई बनी रहेगी।

जियो एक ऐसे “डिजिटल भारत” का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

मिश्रा, यामिनी
वार्ता

About Author

Fayim Md

Fayim Md

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad


LATEST ARTICLES

    Congress News : Web series on history of Cong & it’s contribution to India launched

Congress News : Web series on history of Cong & it’s contribution to India launched

Read Full Article