Get Latest News In English And Hindi – Insightonlinenews

News

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण

January 07
09:46 2020
  • निरंकारी यूथ फोरम में पंजाब एवं चंडीगढ़ के 35 हजार युवकों ने कराया पंजीकरण

इनसाइट ऑनलाइन न्यूज़ टीम

निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महराज ने अपने विश्वव्यापी आध्यात्मिक संगठन निरंकारी मिशन के साथ खेलों के माध्यम से युवाओं को जोड़कर न केवल उनमें शरीरिक और मानसिक विकास का नया आयाम प्रदान किया है बल्कि युवाओं में अध्यात्म का बीज बोने का अनुपम सत्कार्य किया है।

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण 1

उल्लेखनीय है कि सद्गुरु माता जी ने नववर्ष पर 03 जनवरी को पंजाब एवं चंडीगढ़ के निरंकारी यूथ फोरम का शुभारंभ पंचकूला के ताऊदेवी लाल स्टेडियम सेक्टर-3 में किया। नवउद्घाटित फोरम में पंजाब एवं चंडीगढ़ के लगभग 35 हजार युवकों ने पंजीकरण कराया है। इस अवसर पर पहले जोन एवं फिर अंतरयोन स्तर पर मुकाबले करवाये गये। अंतरजोन प्रतियोगिता में शीर्ष स्थान पर आए टीमों के बीच भी प्रतियोगिताएं हुईं।

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण 2

इस युगांतकारी आयोजन से प्रसन्न सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि विभिन्न स्थानों से आई युवा टीमों में आपसी सांझ, प्रीत और भाईचारे का जो स्वरूप यहां देखने को मिला है वह निरंकारी मिशन के पैगाम को भी बयान करता है। उन्होंने प्रेरक शब्दों में कहा कि इन खेलों को करवाने का उद्देश्य ही युवाओं की ऊर्जा को उपयुक्त दिशा में लगाकर समाज के सुन्दर निर्माण में योगदान देना है।

उन्होंने संदेश दिया कि युवाओं को सेवा, सिमरन एवं सत्संग का यह जज्बा इसी प्रकार से कायम रखना है। साथ-साथ निरंकार पर फोकस करके बड़े-बुजुर्गों की शिक्षाओं को अपनाते हुए और उनपर खरा उतरते हुए जीवन में आगे बढ़ना है। अपने उद्बोधन में सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने एक अन्य प्रेरक वाक्य में कहा कि जिस प्रकार गाड़ी की एलाइनमेंट करके उसका बैलेंस सही किया जाता है उसी प्रकार पुरातन एवं विज्ञान से जुड़े खेलों को आध्यात्मिकता से जोड़कर शारीरिक एवं मानसिक संतुलन करना बताया गया है।

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण 3

उन्होंने यह भी व्याख्यायित किया कि हर खेल का आध्यात्मिकता से जुड़ा पहलू भी है कि किस प्रकार एकाग्रता एवं टीम के तौर पर एकत्रित होकर एकत्व के भाव को दर्शाया जाना है। उन्होंने संपुष्ट किया कि अगर शारीरिक तौर पर स्वस्थ होंगे तभी सेवा सिमरन एवं सत्संग कर पायेंगे।
सद्गुरु माता जी ने इस विशिष्ट अवसर पर उपस्थित सभी लोगों को नववर्ष की बधाई दी और कहा कि जो उत्साह इस आयोजन को सफल बनाने में सभी शद्धालुओं ने दिखाया है वही उत्साह वर्षभर सबमें बना रहे।

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण 4

इस असवसर पर बैडमिंटन, वाॅलीबाॅल, लांगजम्प, एथलेटिक्स, कबड्डी, क्रिकेट, कराटे आदि चर्चित मुकाबले हुए। इन सभी खेलों की प्रतियोगिता के आयोजन का मुख्य उद्देश्य युवाओं की ऊर्जा को सकारात्मक तौर पर उपयोग कर उनकी प्रतिभा को निखारता है।

निरंकारी माता सद्गुरु सुदीक्षा ने किया युवाओं में अध्यात्म का बीजारोपण 5

साथ-साथ आध्यात्मिकता से जोड़कर जीवन में आगे बढ़ना है। इस आयोजन का शुभारंभ करने के उपरांत सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रस्तुतिकरण भी हुआ जिसमें शारीरिक व्यायाम, गिद्धा एवं भांगड़ा का लोगों ने आनंद लिया। लोगों में इस आयोजन पर भरपूर उत्साह देखा गया।

तीन दिवसीय निरंकारी संत समागम सम्पन्न , सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने सभी सद्गुरुओं का स्मरण किया

संत निरंकारी मिशन का तीन दिवसीय 72वां वार्षिक संत समागम 16 नवम्बर से शुरू

जीवन में योग कैसे करें

About Author

Prashant Kumar

Prashant Kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad


LATEST ARTICLES

    Sisters, priests celebrate Rev Felix Toppo’s elevation day as Ranchi’s Archbishop

Sisters, priests celebrate Rev Felix Toppo’s elevation day as Ranchi’s Archbishop

Read Full Article