पश्चिम अफ्रीका और सहेल के लिये उप महासचिव की एकजुटता यात्रा

संयुक्त राष्ट्र की उपमहासचिव आमिना जे मोहम्मद ने पश्चिम अफ्रीका की दो पखवाड़े की यात्रा शुरू करते हुए पहले पड़ाव में सहेल क्षेत्र की यात्रा शुरू की है और वहाँ के देशों को कोविड-19 महामारी के दौरान संयुक्त राष्ट्र का समर्थन दोहराया है.

“Women’s representation in government remains dire and yet amid crisis, Nigerian women have been on the medical frontlines and provided critical support to vulnerable communities. @AminaJMohammed remarks @the official Launch of #GenerationEquality campaign in Nigeria@UN_Women pic.twitter.com/BP4A5tHP7m— UN in Nigeria (@UN_Nigeria) November 9, 2020

आमिना जे मोहम्मद ने अपनी यह दौरा सोमवार को नाइजीरिया की यात्रा के साथ शुरू किया जहाँ उन्होंने राजधानी अबूजा में राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी से मुलाक़ात की.
उन्होंने बाद में वहाँ के उप राष्ट्रपति, वित्त मंत्री और संयुक्त राष्ट्र के सहयोगियों के साथ मिलकर यूएन प्लस नामक अभियान शुरू किया जिसके तहत महामारी के सामाजिक-आर्थिक प्रभावों का मुक़ाबला करने में सरकारी प्रयासों को सहारा दिया जाएगा.
इस अभियान के तहत लगभग 25 करोड़ डॉलर की रक़म जुटाई जाएगी जो नाइजीरिया में स्वास्थ्य प्रणालियों को मज़बूत करने और महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में ख़र्च की जाएगी.
साथ ही इस अभियान के तहत देश में ऐसी मज़बूत सामाजिक संरक्षण व्यवस्था भी बनाई जएगी जो ग़रीबों पर केन्द्रित हो.
उप महासचिव ने नाइजीरिया में महिला मामलों के मन्त्री के साथ मिलकर यूएन वीमैन पीढ़ी समानता अभियान भी शुरू किया.
पुनर्बहाली व सहनशीलता को बढ़ावा
संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने न्यूयॉर्क में सोमवार को कहा कि उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद क्षेत्र की अपनी यात्रा के दौरान इस बात पर प्रकाश डालेंगी कि संयुक्त राष्ट्र ने कोरोनावायरस महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में देशों की सहायता करने के प्रयासों में किस तरह अपने अभियानों को समायोजित किया है.
इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र ने असमानता के मूल कारणों पर भी ध्यान देना जारी रखा है.
प्रवक्ता ने यूएन मुख्यालय में दैनिक प्रैस वार्ता के दौरान कहा, “उपमहासचिव ऐसे टिकाऊ विकास कार्यक्रमों पर ज़ोर देंगी जिनमें सामाजिक-आर्थिक पुनर्बहाली, लैंगिक समानता, अनेक पीढ़ियों का नेतृत्व, मज़बूती व सहनक्षमता, जलवायु कार्रवाई, और सबसे ज़्यादा प्रभावित लोगों को जीवनदायी मानवीय सहायता की आपूर्ति जारी रखने जैसे मुद्दे शामिल हैं.”
उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद का मूल देश नाइजीरिया है और वो पाँचवीं उप महासचिव और इस पद पर नियुक्त होने वाली तीसरी महिला हैं. यूएन उप महासचिव का पद 1997 में शुरू किया गया था.
उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद संयुक्त राष्ट्र टिकाऊ विकास समूह की अध्यक्ष भी हैं जिसमें 30 से ज़्यादा यूएन एजेंसियों, कोषों और कार्यक्रमों के प्रमुख भी शामिल हैं.
यूएन टिकाऊ विकास समूह 2030 विकास एजेण्डा की प्राप्ति के प्रयासों में देशों और क्षेत्रों की मदद करता है. इस समूह का लक्ष्य पृथ्वी ग्रह और इस पर बसने वाले लोगों के लिये एक ज़्यादा न्यायसंगत व ज़्यादा समानतापूर्ण दुनिया बनाने के लिये प्रयास करना भी है., संयुक्त राष्ट्र की उपमहासचिव आमिना जे मोहम्मद ने पश्चिम अफ्रीका की दो पखवाड़े की यात्रा शुरू करते हुए पहले पड़ाव में सहेल क्षेत्र की यात्रा शुरू की है और वहाँ के देशों को कोविड-19 महामारी के दौरान संयुक्त राष्ट्र का समर्थन दोहराया है.

आमिना जे मोहम्मद ने अपनी यह दौरा सोमवार को नाइजीरिया की यात्रा के साथ शुरू किया जहाँ उन्होंने राजधानी अबूजा में राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी से मुलाक़ात की.

उन्होंने बाद में वहाँ के उप राष्ट्रपति, वित्त मंत्री और संयुक्त राष्ट्र के सहयोगियों के साथ मिलकर यूएन प्लस नामक अभियान शुरू किया जिसके तहत महामारी के सामाजिक-आर्थिक प्रभावों का मुक़ाबला करने में सरकारी प्रयासों को सहारा दिया जाएगा.

इस अभियान के तहत लगभग 25 करोड़ डॉलर की रक़म जुटाई जाएगी जो नाइजीरिया में स्वास्थ्य प्रणालियों को मज़बूत करने और महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में ख़र्च की जाएगी.

साथ ही इस अभियान के तहत देश में ऐसी मज़बूत सामाजिक संरक्षण व्यवस्था भी बनाई जएगी जो ग़रीबों पर केन्द्रित हो.

उप महासचिव ने नाइजीरिया में महिला मामलों के मन्त्री के साथ मिलकर यूएन वीमैन पीढ़ी समानता अभियान भी शुरू किया.

पुनर्बहाली व सहनशीलता को बढ़ावा

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने न्यूयॉर्क में सोमवार को कहा कि उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद क्षेत्र की अपनी यात्रा के दौरान इस बात पर प्रकाश डालेंगी कि संयुक्त राष्ट्र ने कोरोनावायरस महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में देशों की सहायता करने के प्रयासों में किस तरह अपने अभियानों को समायोजित किया है.

इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र ने असमानता के मूल कारणों पर भी ध्यान देना जारी रखा है.

प्रवक्ता ने यूएन मुख्यालय में दैनिक प्रैस वार्ता के दौरान कहा, “उपमहासचिव ऐसे टिकाऊ विकास कार्यक्रमों पर ज़ोर देंगी जिनमें सामाजिक-आर्थिक पुनर्बहाली, लैंगिक समानता, अनेक पीढ़ियों का नेतृत्व, मज़बूती व सहनक्षमता, जलवायु कार्रवाई, और सबसे ज़्यादा प्रभावित लोगों को जीवनदायी मानवीय सहायता की आपूर्ति जारी रखने जैसे मुद्दे शामिल हैं.”

उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद का मूल देश नाइजीरिया है और वो पाँचवीं उप महासचिव और इस पद पर नियुक्त होने वाली तीसरी महिला हैं. यूएन उप महासचिव का पद 1997 में शुरू किया गया था.

उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद संयुक्त राष्ट्र टिकाऊ विकास समूह की अध्यक्ष भी हैं जिसमें 30 से ज़्यादा यूएन एजेंसियों, कोषों और कार्यक्रमों के प्रमुख भी शामिल हैं.

यूएन टिकाऊ विकास समूह 2030 विकास एजेण्डा की प्राप्ति के प्रयासों में देशों और क्षेत्रों की मदद करता है. इस समूह का लक्ष्य पृथ्वी ग्रह और इस पर बसने वाले लोगों के लिये एक ज़्यादा न्यायसंगत व ज़्यादा समानतापूर्ण दुनिया बनाने के लिये प्रयास करना भी है.

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *