Latest News Site

News

भाजपा चली कांग्रेस की राह, शुरू हुआ भीतरघात, मंत्री मांगे पनाह

August 17
11:14 2019

झारखंड के भू-राजस्व मंत्री अमर कुमार बाउरी के विरूद्ध वायरल हुआ ऑडियो क्लिप, फैली सनसनी

झाविमो से दलबदल कर भाजपा में गये बाउरी का आने वाले चुनाव में हिसाब चुक्ती करेंगे।

इनसाइट ऑनलाइन न्यूज़ डेस्क 

ऐसा तो किसी और राजनीतिक दल में होता है कि अपनी ही पार्टी के किसी नेता या मंत्री को किनारे करने की साजिश की जा रही हो। लेकिन अब देश की सर्वाधिक सशक्त और लोकप्रिय राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी में भी अपने ही दल के वरिष्ठ मंत्री को ‘लंगी‘ मारने की साजिश की जा रही है। ऐसा उदाहरण झारखंड में चंदनकियारी के विधायक और राज्य के भू-राजस्व मंत्री अमर कुमार बाउरी के साथ हो रहे भीतरघात के साथ जुड़ा है।

मिली जानकारी के अनुसार इस साजिश से जुड़ा एक ऑडियो क्लिप वायरल हुआ है। यह बोकारो और चंदनकियारी क्षेत्र में खूब चर्चित है। वायरल ऑडियो क्लिप को भारतीय जनता पार्टी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नारायण साव और भाजपा नेता शिवराम शेखर के बीच हुई बातचीत का हिस्सा बताया जा रहा है।

शिवराम शेखर ने बातचीत की बात स्वीकारते हुए कहा है कि यह क्लिप उन्होंने एक मीडिया वाले को दिया था, जिसे वायरल कर दिया गया। अब मंत्री जी को देखना है कि वे क्या करेंगे। वहीं नारायण साव ने टेप में अपनी आवाज होने से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग उन्हें फंसाने की साजिश कर रहे हैं। ऑडियो टेप में बातचीत बांग्ला में की गई है।

इसमें एक ओर की आवाज को नारायण साव का बताया जा रहा है, जिसमें कहा गया है कि इस बार अमर बाउरी के खिलाफ काम करना है। बातचीत के दौरान शिकायत की गई है कि पांच साल के कार्यकाल में बाउरी ने उनकी एक बात नहीं सुनी और उन्हें तथा उनके लोगों को कोई फायदा नहीं होने दिया। आगे की बातचीत कुछ इस प्रकार है।

  • दूसरी ओर की आवाज वाले व्यक्ति (जिन्हें शिवराम बताया जा रहा है): जमशेदपुर में एक काम लिये हैं। गाड़ी-घोड़ा का इंतजाम हो जाएगा?
  • नारायण साव: कार्यकर्ता दवा के बिना मर रहा है और मंत्री के नजदीकी लोग सर्किट हाउस और रांची में आनंद उठा रहे हैं। इसकी पूरी व्यवस्था मंत्री द्वारा की जा रही है। खैर तीन माह जो करना है कर ले। इसके बाद क्या होगा बताते हैं। खून खौल रहा है। एक साल से बैठा हुआ हूं। अफसर लोग मेरी बात नहीं सुन रहे हैं। हमारा 10 से 15 लाख रुपया फंसा हुआ है। दो चार बार बोला हूं, लेकिन कोई काम नहीं हुआ। अफसर के सामने मेरा कोई वैल्यू ही नहीं रह गया है।
  • शिवराम: हां
  • नारायण साव: इससे अच्छा उमाकांत रजक को जिता देंगे। उसके पास न जाएंगे न काम लेंगे। भाजपा के नाम पर कुछ नहीं कर पा रहे हैं। विरोधी भी बढ़ रहे हैं।
  • शिवराम: हमारे काम का क्या होगा?
  • नारायण साव: समझ लो काम नहीं होगा। तीन माह इंतजार करो। पैसा डूब जाएगा। इन लोगों की क्या औकात है। 10 रुपये का आदमी है। अनुपम और कृपा की कोई औकात नहीं है।
  • शिवराम: 10-5 रुपये की बात नहीं है। उतना पैसा कहां से लाएंगे?
  • नारायण साव: मेरा स्टाइल देखो। या तो काम मैं करूंगा, नहीं तो दो लाख रुपये लूंगा। मेरा स्टाइल सबसे ठीक है।
  • शिवरामरू मेरे लिए बात कीजिए ।
  • नारायण सावरू मेरा प्रेशर बढ़ रहा है। तीन माह इंतजार करो, देखते हैं…।

यह भी क्षेत्र में चर्चा है कि क्या चंदनकियारी के मतदाता झाविमो से दलबदल कर भाजपा में गये बाउरी का आने वाले चुनाव में हिसाब चुक्ती करेंगे।

[slick-carousel-slider design="design-6" centermode="true" slidestoshow="3"]

About Author

admin_news

admin_news

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    Social networking app gives grants to 13 small Indian businesses

Social networking app gives grants to 13 small Indian businesses

Read Full Article