Get Latest News In English And Hindi – Insightonlinenews

News

भारी बारिश तथा बर्फबारी के कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद

January 13
08:45 2020

जम्मू 13 जनवरी । जम्मू संभाग के मैदानी इलाकों में जारी बारिश के कारण सोमवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग एक बार फिर यातायात के लिए बंद हो गया है। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रामबन से बनिहाल के बीच कई जगह भूस्खलन होने के बाद से राजमार्ग को एक बार फिर वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया है। यातायात पुलिस ने दूसरे राज्यों से श्रीनगर जाने वाले वाहनों को लखनपुर, नगरोटा और ऊधमपुर के जखैनी इलाके में रोक दिया है। खराब मौसम के बीच राजमार्ग बंद हो जाने के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों का लंबा जाम लग गया है।

जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर स्थित रामबन जिले में मोम पस्सी, डिगडोल के पास रात को भूस्खसलन हुआ है। बारिश जारी होने के कारण मलवे को हटाया नहीं जा सकता है। ट्रैफिक विभाग ने हाइवे पर वाहनों को रोक दिया है। जवाहर टनल में भी बारी बर्फबारी हो रही है। वहां भी वाहनों की लंबी कतारें लग चुकी हैं। मौसम में सुधार होने के बाद ही बर्फ व मलवे को हटाने का काम शुरू किया जाएगा। इसके अलावा पुंछ से घाटी को जोड़ने वाला ऐतिहासिक मुगल रोड व कश्मीर को लेह से जोड़ने वाला जोजिला मार्ग भी लगभग महीनों से बंद है।

वहीं कश्मीर घाटी में भी रविवार से हो रही बर्फबारी सोमवार को भी जारी है। श्रीनगर शहर में पांच सेमी बर्फ गिर चुकी है। कश्मीर के कई हिस्सों में रविवार सुबह से ही बर्फबारी शुरू हो गई थी जो आज भी जारी है। दक्षिण कश्मीर के पहलगाम पर्यटन स्थल पर 13 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है। उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के गुलमर्ग में 11 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है। कुपवाड़ा में 32 सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है। लेह में भी बर्फबारी हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार दोपहर बाद मौसम में सुधार होगा।

(हि.स.)

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर ताजा बर्फबारी से वाहनों की आवाजाही प्रभावित

About Author

Prashant Kumar

Prashant Kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad


LATEST ARTICLES

    RBI to set up innovation hub for financial sector

RBI to set up innovation hub for financial sector

Read Full Article