रोटरी क्लब रांची दायित्वपूर्वक दे रहा है राहत कार्यों में सेवा

Insightonlinenews Team

सम्पूर्ण विश्व में रोटरी क्लब एक विख्यात समाजिक संस्था है जिसके मौलिक सिद्धांत पूरे विश्व में साक्षरता, सामुदायिक आर्थिक विकास, रोग की रोकथाम और उपचार, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, शांति एवं संघर्ष की रोकथाम, पानी, स्वच्छता और स्वच्छता, तथा अन्य मानवीय कष्टों के उन्मूलन के लिए कटिबद्ध है और इनको पूरा करने के लिए पूरे विश्व में अपनी शाखाओं के माध्यम से समय-समय पर कार्यक्रम निरंतर चलाते हैं।

भारतवर्ष में रोटरी क्लब की 4000 से अधिक छोटी-बड़ी आबादी के अनुसार शाखाएं हैं और वो भी रोटरी क्लब के बुनियादी मौलिक सिद्धांतों को अमल करने के लिए सेवा दे रही हैं।

वैसे रोटरी क्लब की एक घोषित वचनबद्धता है, Service above self and one profits most who serves best अर्थात् हिंदी में स्वंय से उपर सेवा एवं एक समाजिक लाभ जो सबसे अच्छा काम करता है।

ज्ञातव्य हो कि पूरे देश में कुछ एक क्षेत्रों और राज्यों को छोड़कर पोलियो रोग के उन्मूलन में रोटरी क्लब की भूमिका अग्रणी रही है जो अपने आप में एक अद्भुद मिसाल है और उनके सदस्यों को समाज में काफी सम्मानित दृष्टिकोण से देखा जाता है।

अपने बुनियादी सेवाओं में रोटरी क्लब ने देशभर में कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न विपत्ति काल में भी अपना योगदान देने का निश्चय लिया और उसकी देशभर की शाखाओं ने खासकर उपेक्षित शहरी क्षेत्रों के लोगों के बीच समर्पण भाव से प्रारंभ कर दिया।

रोटरी क्लब द्वारा दिये जा रहे राहत कार्यों का एक अच्छा आदर्श प्रस्तुत करता है रांची का रोटरी क्लब भी।

रांची रोटरी क्लब के सदस्यों एवं समर्थकों ने रांची शहर में उपेक्षित क्षेत्रों तथा सटे हुए ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरतमंद और इस विपदा ग्रसित लोगों के बीच लाॅकडाउन के संकटकाल में सूखा राशन वितरण, भोजन वितरण, पीपी किट वितरण, सेनिटाइजर वितरण, मास्क वितरण होमियोपैथिक औषधि आर्सेनिक एल्बम 30 जैसी और अन्य रोजमर्रा से जुड़ी सामग्री का घर-घर जाकर वितरण किया।

सेवा के इस कार्य में रांची रोटरी क्लब के प्रमुख सदस्यों में श्रीमती ख्याति मुंजाल, आदित्य मल्होत्रा, अमित अग्रवाल, शाहिद पाॅल, डाॅ. अनंत सिन्हा, रश्मि अग्रवाल, पायल सेठ की महत्वपूर्ण भूमिका रही। इन सभों की अगुवाई में राहत सामग्रियों की सेवा रांची के चुटिया, कांके के हातमा बस्ती, विद्यानगर, इंद्रप्रस्थ पेट्रोल पंप बिरसा चैक, नया सराय, बिजूपाड़ा इत्यादि अनेक क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लाभुकों के बीच संपन्न की गई।

रोटरी क्लब रांची ने रांची के सदर अस्पताल में 100 पीपीई किट बहुत ही जरूरत के समय में सिविल सर्जन विजय बिहारी प्रसाद को आदित्य मल्होत्रा, योगेश गंभीर, अमित अग्रवाल और ख्याति मुंजाल की उपस्थिति में सौंप कर मेडिकल स्टाफ जो इस संकट की घड़ी में सेवा दे रहे हैं अपना योगदान देकर समाजिक दायित्व का निर्वाह किया।

रांची रोटरी क्लब ने अपनी सेवाएं दिव्यांगों के बीच भी दी। सेवाओं के दौरान मौजूद पुलिस पदाधिकारियों तथा सेना के जवानों कोे भी मास्क और सेनिटाइजर की सेवा प्रदान की।

झारखंड में जहां सरकारी स्तर पर राहत कार्य लाॅकडाउन के बाद से ही ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में दिखने लगा था। वहीं राज्य में अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग ढंग से सामाजिक कार्यों का जज्बा रखने वाले संगठन भी अपने-अपने ढंग से राहत सेवा में लगतार कार्य करते रहें जिसमें रांची रोटरी क्लब ने भी अपना योगदान देकर उपस्थिति दर्ज कराई।

सूखे राशन के वितरण में चैरिटेबल चाम्र्स की प्रेसिडेंट ख्याति मुंजाल और रोटरी क्लब के संयुक्त प्रयास रहा जो इस भावना के साथ कि ’’कोई भूखा न सोये’’ जरूरतमंद लोगों के बीच संपन्न किया गया।

ज्ञातव्य हो कि भारतवर्ष में रोटरी क्लब ने अपनी जिम्मेवारी निभाते हुये विभिन्न स्थानों पर 75 हजार पीपीई किट और एक करोड़ मास्क तथा 6 लाख 50 हजार सूखे राशन का वितरण किया और साथ ही साथ 25 लाख से अधिक मजदूर और बेसहारा लोगों को भोजन कराया। यह अपने आप में ऐतिहासिक सेवा है और इस सेवा में रांची रोटरी क्लब ने भी अपना हाथ बटाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *