Latest News Site

News

संत निरंकारी मिशन का तीन दिवसीय 72वां वार्षिक संत समागम 16 नवम्बर से शुरू

संत निरंकारी मिशन का तीन दिवसीय 72वां वार्षिक संत समागम 16 नवम्बर से शुरू
November 15
10:01 2019

धर्मराज राय

  • सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज का मिल रहा आध्यात्मिक मागदर्शन

देश विदेश में श्रद्धा और विश्वास प्राप्त संत निरंकारी मिशन का 72वां तीन दिवसीय वार्षिक समागम हरियाणा की धरती पर दूसरी बार जी टी रोड पर गनौर-समालखा हल्दाना सीमा के निकट संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल पर 16 नवम्बर से 18 नवम्बर तक आयोजित हो रहा है। मिशन के स्वामित्व वाली 615 एकड़ में विस्तृत निजी आध्यात्मिक स्थल पर समागम के लिए आवश्यक समस्त सुव्यवस्था पूरी हो चुकी है।

मिशन मुख्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार समागम में देश-विदेश से लाखों की संख्या में संगत के पहुंचने की संभावना है। समागम स्थल पर सुव्यवस्था स्थापित करने के लिए निरंकारी सेवा दल के लगभग चार हजार समर्पित सदस्य दिन-रात लगे हुए हैं। इसके साथ ही संत निरंकारी चैरिटेबल फाउन्डेशन द्वारा लगभग साढ़े चार एकड़ में समागम सत्संग के लिए पंडाल और टेन्ट लगाए गये हैं। सत्संग स्थल पर न केवल सत्संग पंडाल बल्कि साथ-साथ प्रदर्शनी, प्रकाशन स्टाॅल, लंगर, कंैटीन, डिस्पेंसरी एवं बाहर से पधारे साध-संगतों के लिए समुचित व्यवस्था पूरी हो गई है। श्रद्धालुओं को समागम स्थल तक पहुंचाने के लिए 300 बसों की सेवा ली जा रही है, जो दिल्ली एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन तथा अन्य स्थानीय स्थलों से श्रद्धालुओं को लेकर समागम स्थल तक पहुंचा रही हैं। परेशानी में सहायता के लिए टोल-फ्री नम्बर 1800-123-109090 जारी किया गया है।

टोल फ्री नम्बर 20 नवम्बर 2019 तक चालू रहेगा। मुख्य सत्संग पंडाल के ईर्द-गिर्द मिशन के अनेक विभागों के कार्यालय, प्रेस एवं पब्लिसिटी विभाग, संत निरंकारी चैरिटेबल फाउन्डेशन का कार्यालय, प्रकाशन-पत्रिका, दूरसंचार, रेलवे आरक्षण तथा अन्य गतिविधियों के लिए स्थल व्यवस्थित किए गये हैं। समागम स्थल पर 24 एम्बुलेंस सहित ग्यारह डिस्पेंसरियां स्थापित हैं, जहां 80 से अधिक बिस्तरों का भी प्रबंध है। 19 प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र भी स्थापित हैं। इस आयोजन में 60 से अधिक चिकित्सकों की एक टीम भी सेवा देगी, जिसमें विदेश से भी पहुंचे चिकित्सक शामिल हैं।
समागम स्थल पर रेलवे आरक्षण एवं बुकिंग के लिए पर्याप्त काउन्टर स्थापित हैं। इसके साथ 14 एटीएम मशीनों की भी सुविधा है। आॅनलाईन भुगतान के लिए 50 स्वाइप मशीनों का भी प्रबंध किया गया है। यहां प्रकाशन विभाग द्वारा 17 स्टाॅल स्थापित हैं।

संत समागम 2019 की थीम

16 नवम्बर 2019 से शुरू तीन दिवसीय वार्षिक संत निरंकारी संत समागम का मुख्य विषय ‘संत निरंकारी मिशन की स्थापना का 90 वर्ष’ थीम पर केन्द्रित है। यहां निरंकारी प्रदर्शनी में मिशन के मौलिक सिद्धांतों एवं इतिहास के साथ-साथ समागम के महत्व, सद्गुरु की देश-विदेश की सत्संग यात्राओं तथा समाज कल्याण से सम्बद्ध गतिविधियों का दिग्दर्शन कराया जायेगा।
इसके साथ हीं निरंकारी चैरिटेबल फाउन्डेशन की ओर से समय-समय पर आयोजित रक्तदान शिविर, वृक्षारोपण, सफाई अभियान, युवा एवं महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, प्राकृतिक आपदा-सहायता कार्य आदि की भी जानकारी प्रदर्शनी में मिलेगी।

  • रेलवे सुविधा

समागम में पधारने वाले साधु-संगतों के लिए निकटस्थ भोड़वाल माजरी स्टेशन पर 30 नवम्बर तक सभी मेल एवं एक्सप्रेस ट्रेन 3 मिनट के लिए रूकेंगी। यह सेवा गत् 5 नवम्बर से ही शुरू है। यहां सहायता के लिए सेवादल के सदस्य मौजूद रहते हैं।

सद्गुरु माता सुदीक्षा महाराज ने इस महत्वपूर्ण समागम स्थल पर तैयारियों का गत् 6 अक्टूबर को शिलान्यास किया था। यह समागम सद्गुरु सुदीक्षा जी महाराज की छत्र-छाया में आयोजित होने वाला दूसरा वार्षिक निरंकारी संत समागम होगा। आप समागम कार्य स्थल पर प्रत्येक दिन पहुंच कर तैयारियों की निगरानी और प्रबंधकों का उत्साहवर्द्धन करती रही है।

समागम का तीन दिवसीय कार्यक्रम

  • प्रथम दिन: 72वें वार्षिक संत समागम का शुभारंभ अपराह्न 1 बजे सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के समागम स्थल पर आगमन के साथ शुरू होगा। आप एक शोेभा यात्रा के साथ मंच तक जायेंगी। सत्संग कार्यक्रम रात्रि साढ़े आठ बजे तक चलेगा और सद्गुरु के आर्शीवचनों के साथ विराम होगा।
  • दूसरा दिन: समागम के दूसरे दिन 17 नवम्बर को सेवादल की रैली मुख्य कार्यक्रम के रूप में आयोजित होगी। पूर्वाह्न 11 बजे से 1 बजे तक रैली में निरंकारी सेवा दल के देशी-विदेशी महिला-पुरूष सदस्य शामिल रहेंगे। तद्नन्तर अपराह्न दो बजे सत्संग शुरू होगा और रात्रि साढ़े आठ बजे सद्गुरु के आर्शीवचनों के साथ विराम होगा।
  • तीसरा दिन: समागम के अंतिम और तीसरे दिन 18 नवम्बर 2019 को अपराह्न 02 बजे से रात्रि साढ़े आठ बजे तक कार्यक्रम होगा और सद्गुरु के प्रवचन के साथ सम्पन्न होगा। इस कार्यक्रम में 3 बजे से चार बजे तक एक बहुभाषीय कवि सम्मेलन भी होगा। कवि सम्मेलन का विषय-‘मिशन प्यार का युगों-युगों से बह्म के साथ मिलता आया’-रखा गया है।

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि हरियाणा में पहली बार 71वां समागम भी गनौर-समालेखा के बीच इसी संत निरंकारी अध्यात्मिक स्थल पर हुआ था। अब 72वां समागम भी इसी स्थल पर दूसरी बार आयोजित हो रहा है। मिशन आध्यात्मिक जागरूकता के साथ विश्व में सत्य, प्रेम एवं एकत्व का संदेश देता है। पहला निरंकारी संत समागम दिल्ली के पहाड़गंज में हुआ था।

TBZ
G.E.L Shop Association
Novelty Fashion Mall
Status
Akash
Swastik Tiles
Reshika Boutique
Paul Opticals
Metro Glass
Krsna Restaurant
Motilal Oswal
Chotanagpur Handloom
Kamalia Sales
Home Essentials
Raymond

About Author

Prashant Kumar

Prashant Kumar

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    CAB: 2 die in police firing as Assam remains on boil

CAB: 2 die in police firing as Assam remains on boil

Read Full Article