हेती: राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की घिनौनी हत्या की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को कहा है कि हेती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की हत्या के ज़िम्मेदार तत्वों को न्याय के कटघरे में अवश्य लाया जाना चाहिये.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक द्वारा जारी एक वक्तव्य के अनुसार यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस हत्याकांड की कड़े शब्दों में निन्दा की है.
एक घिनौना कृत्य
वक्तव्य में कहा गया है, “महासचिव ने तमाम हेती वासियों का आहवान किया है कि वो संवैधानिक व्यवस्था को बरक़रार रखें, इस घिनौने कृत्य को देखते हुए एकजुट रहें और किसी भी तरह की हिंसा को नकारें.”
राजधानी प्रोट ओ प्रिंस में 53 वर्षीय राष्ट्रपति मोइसे के निजी निवास पर एक हमले में उनकी हत्या कर दी गई. मीडिया ख़बरों के अनुसार उनकी पत्नी मार्टाइन भी इस हमले में घायल हुईं और उनका इलाज चल रहा था.
उद्योगपति और राजनेता मोइसे, नवम्बर 2016 में राष्ट्रपति पद के लिये निर्वाचित हुए थे और फ़रवरी 2017 में उन्होंने अपना पदभार संभाला था.
यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने हेती के लोगों और वहाँ की सरकार के साथ-साथ दिवंगत राष्ट्रपति के परिवार के प्रति गहरा शोक व्यक्त किया है.
वक्तव्य में कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र हेती की सरकार और वहाँ के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मुस्तैद है.
बहुमुखी चुनौतियाँ
कैरीबियाई देश हेती में बहुत निर्धनता है, और वहाँ हाल के वर्षों में गम्भीर राजनैतिक, आर्थिक और मानवीय चुनौतियाँ मौजूद रही हैं.
फ़रवरी 2017 में दिवंगत राष्ट्रपति के पद संभालने के बाद से देश में छह प्रधानमंत्री नियुक्त किये गए.
सातवें प्रधानमंत्री की नियुक्ति तो इसी सप्ताह हुई थी और उन्हें अभी अपने पद की शपथ ग्रहण करनी है.
हेती में संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अधिकारी हेलेन ला लाइम ने जून 2021 में देश की बिगड़ती सामाजिक-आर्थिक स्थिति के बारे में,  सुरक्षा परिषद को अवगत कराते हुए कहा था कि वहाँ गैंग हिंसा उभार पर है, कोविड-19 महामारी का फैलाव फिर तेज़ी पकड़ रहा है, और हेती की राजनीति में ध्रुवीकरण तो थमने का नाम ही नहीं लेता.
उन्होंने कहा था कि हेती के लोगों के नेतृत्व वाले अनेक मध्यस्थता प्रयासों के बावजूद, गहराई से जड़ जमाए हुए राजनैतिक संकट दूर होने का नाम नहीं ले रहा है.
इस संकट ने पिछले चार वर्षों के दौरान ज़्यादातर समय तक देश को अपनी चपेट में रखा है.
साथ ही, कुछ राजनैतिक नेतागण भड़काऊ बयानों का सहारा ले रहे हैं जिनके बढ़ने के साथ-साथ माहौल और भी ज़्यादा कड़वा होता रहा है.
सुरक्षा परिषद की शोक व्यक्ति
यूएन सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष फ्रांस के राजदूत निकोला डी रिवीयर ने बुधवार को बैठक शुरू होने से पहले कहा कि परिषद के सदस्य हेती के राष्ट्रपति की मृत्यु पर दुखी हैं.
उन्होंने कहा, “सुरक्षा परिषद के सदस्य हेती के राष्ट्रपति मोइसे की हत्या पर गहरा सदमा व्यक्त करते हैं… सदस्यों ने देश की प्रथम महिला मार्टाइन मोइसे के स्वास्थ्य के बारे में भी चिन्ता व्यक्त की है, जिन्हें उस हमले के दौरान गोली लगी है.”
सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के 15 राजदूतों ने दिवंगत राष्ट्रपति के परिवार, देश की सरकार और वहाँ के लोगों के प्रति गहरी सम्वेदना व्यक्त की है., संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को कहा है कि हेती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की हत्या के ज़िम्मेदार तत्वों को न्याय के कटघरे में अवश्य लाया जाना चाहिये.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक द्वारा जारी एक वक्तव्य के अनुसार यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस हत्याकांड की कड़े शब्दों में निन्दा की है.

एक घिनौना कृत्य

वक्तव्य में कहा गया है, “महासचिव ने तमाम हेती वासियों का आहवान किया है कि वो संवैधानिक व्यवस्था को बरक़रार रखें, इस घिनौने कृत्य को देखते हुए एकजुट रहें और किसी भी तरह की हिंसा को नकारें.”

राजधानी प्रोट ओ प्रिंस में 53 वर्षीय राष्ट्रपति मोइसे के निजी निवास पर एक हमले में उनकी हत्या कर दी गई. मीडिया ख़बरों के अनुसार उनकी पत्नी मार्टाइन भी इस हमले में घायल हुईं और उनका इलाज चल रहा था.

उद्योगपति और राजनेता मोइसे, नवम्बर 2016 में राष्ट्रपति पद के लिये निर्वाचित हुए थे और फ़रवरी 2017 में उन्होंने अपना पदभार संभाला था.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने हेती के लोगों और वहाँ की सरकार के साथ-साथ दिवंगत राष्ट्रपति के परिवार के प्रति गहरा शोक व्यक्त किया है.

वक्तव्य में कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र हेती की सरकार और वहाँ के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मुस्तैद है.

बहुमुखी चुनौतियाँ

कैरीबियाई देश हेती में बहुत निर्धनता है, और वहाँ हाल के वर्षों में गम्भीर राजनैतिक, आर्थिक और मानवीय चुनौतियाँ मौजूद रही हैं.

फ़रवरी 2017 में दिवंगत राष्ट्रपति के पद संभालने के बाद से देश में छह प्रधानमंत्री नियुक्त किये गए.

सातवें प्रधानमंत्री की नियुक्ति तो इसी सप्ताह हुई थी और उन्हें अभी अपने पद की शपथ ग्रहण करनी है.

हेती में संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अधिकारी हेलेन ला लाइम ने जून 2021 में देश की बिगड़ती सामाजिक-आर्थिक स्थिति के बारे में,  सुरक्षा परिषद को अवगत कराते हुए कहा था कि वहाँ गैंग हिंसा उभार पर है, कोविड-19 महामारी का फैलाव फिर तेज़ी पकड़ रहा है, और हेती की राजनीति में ध्रुवीकरण तो थमने का नाम ही नहीं लेता.

उन्होंने कहा था कि हेती के लोगों के नेतृत्व वाले अनेक मध्यस्थता प्रयासों के बावजूद, गहराई से जड़ जमाए हुए राजनैतिक संकट दूर होने का नाम नहीं ले रहा है.

इस संकट ने पिछले चार वर्षों के दौरान ज़्यादातर समय तक देश को अपनी चपेट में रखा है.

साथ ही, कुछ राजनैतिक नेतागण भड़काऊ बयानों का सहारा ले रहे हैं जिनके बढ़ने के साथ-साथ माहौल और भी ज़्यादा कड़वा होता रहा है.

सुरक्षा परिषद की शोक व्यक्ति

यूएन सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष फ्रांस के राजदूत निकोला डी रिवीयर ने बुधवार को बैठक शुरू होने से पहले कहा कि परिषद के सदस्य हेती के राष्ट्रपति की मृत्यु पर दुखी हैं.

उन्होंने कहा, “सुरक्षा परिषद के सदस्य हेती के राष्ट्रपति मोइसे की हत्या पर गहरा सदमा व्यक्त करते हैं… सदस्यों ने देश की प्रथम महिला मार्टाइन मोइसे के स्वास्थ्य के बारे में भी चिन्ता व्यक्त की है, जिन्हें उस हमले के दौरान गोली लगी है.”

सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के 15 राजदूतों ने दिवंगत राष्ट्रपति के परिवार, देश की सरकार और वहाँ के लोगों के प्रति गहरी सम्वेदना व्यक्त की है.

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *