Latest News Site

News

ह्यूस्टन बना मिनी भारत, स्टेडियम में पसरी भारतीय संस्कृति की झलक

September 22
17:59 2019

ह्यूस्टन 22 सितम्बर (वार्ता) अमेरिका के टेक्सास प्रांत के इस शहर ने आज ‘मिनी भारत ’ का रूप ले लिया , जहां सड़कों पर बड़ी संख्या में भारतीय और तिरंगे के रंग पटे नजर आये वहीं विशाल एनआरजी फुटबॉल स्टेडियम में भारत की विविधता में एकता की संस्कृति की भव्य झलक दिखाई दी।

भारतीय प्रवासी समुदाय द्वारा आयोजित हाउडी मोदी शो में श्री मोदी तथा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ऐतिहासिक संबोधन से पहले भारतीय मूल तथा अमेरिकी कलाकारों ने लगभग डेढ घंटे तक दोनों देशों के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रंगारंग प्रस्तुति की। कार्यक्रम में 27 समूहों के लगभग 400 कलाकारों ने अपनी विधाओं से समा बांध दिया जिससे दर्शक झूम उठे।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरूआत सिख समुदाय के एक समूह द्वारा पवित्र गुरूवाणी के साथ हुई। इसके बाद भारत के विभिन्न राज्यों के लोकनृत्यों की प्रस्तुति से माहौल खुशरंग बन गया। ढोल की थाप पर हुए भंगड़े के दौरान बड़ी संख्या में दर्शक थिरकते नजर आये। स्टेडियम में मौजूद सैकड़ों लोगों ने अपने चेहरों पर तिरंगे के रंग लगाये हुुए थे और कुछ लोगों ने तिरंगे के रंग के कपड़े पहने हुए थे।

महाराष्ट्र के मशहूर नासिक ढोल और गुजरात की लोकप्रिय गायक फाल्गुनी पाठक ने अपनी टीम के साथ अलग ही समां बांध कर सबका मन मोह लिया। भारतीय मूल के 16 वर्षीय किशोर स्पर्श शाह ने राष्ट्र गान जन गण मन गाकर समूचे स्टेडियम को राष्ट्र प्रेम की भावना से भावविभोर कर दिया।

श्री मोदी के आने से लगभग दो घंटे पहले ही उत्साहित लोगों का स्टेडियम जमावड़ा हो गया और उन्होंने उत्साह में भारत माता की जय, मोदी, मोदी तथा ‘जब तक सूरज चांद रहेगा भारत तेरा नाम रहेगा’ के नारों से गुंजायमान कर दिया। दर्शकों में युवा, बच्चे, महिला और बुजुर्गों सहित कलाकार शामिल थे। इन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भारत एवं अमेरिका की संस्कृति का समागम दिखाई दिया।

करीब दो घंटों के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बाद मंच पर अमेरिका के विभिन्न भागों से अमेरिकी संसद के दाेनों के 20 से अधिक सदस्य मंच पर आये। ह्यूस्टन के मेयर सिल्वेस्टर टर्नर और टेक्सास से सीनेटर जॉन कारनिन ने उपस्थित जनसमूह का स्वागत किया। उन्होंने भारतीय समुदाय के लोगों के अमेरिका के विकास में योगदान की सराहना की और दोनों देशों के लोकतांत्रिक एवं सांस्कृतिक मूल्यों में समानता को रेखांकित किया।

काले रंग की चेक वाली जैकेट, हल्के पीले कुर्ते एवं सफेद पाजामे में जैसे ही श्री मोदी मंच पर पहुंचे तो सभी अमेरिकी सांसदों ने खड़े हो कर तालियों से उनका स्वागत किया। स्टेडियम में मौजूद हर शख्स रोमांचित हो उठा और स्टेडियम माेदी मोदी के नारों से गूंज उठा। श्री मोदी ने सभी सांसदों से हाथ मिला कर मुलाकात की। लोगों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। मेयर ने श्री मोदी को सम्मान स्वरूप ह्यूस्टन शहर की चाबी सौंपी। मैरीलेंड के सांसद स्टेनी होयर ने श्री मोदी का औपचारिक स्वागत किया। इसके बाद राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को ध्यान में रखकर दोनों देशों के युवा कलाकारों के एक दल ने बापू के प्रिय भजन वैष्णव जन तो तेने रे कहिए… का फ्यूजन पेश किया। बाद में एक अमेरिकी नृत्यांगना ने बापू के प्रिय भजन की धुन पर कत्थक नृत्य प्रस्तुत किया।

मंच पर लगे विशाल स्क्रीन पर भारत एवं अमेरिका के ध्वज दिखायी दे रहे थे। यह पहला मौका है जब इस तरह के किसी कार्यक्रम में कोई अमेरिकी राष्ट्रपति और श्री मोदी एक ही मंच से 50 हजार से भी अधिक भारतीय और अमेरिकियों से मुखातिब हुए।

इससे पहले शनिवार को श्री मोदी ने ह्यूस्टन पहुंचते ही ट्वीट किया, “हाउडी ह्यूस्टन। यहां चमकीली धूप निकली हुई है। इस गतिशील और ऊर्जावान शहर में विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए उत्सुक हूं। ”

संजीव सचिन

वार्ता

 

[slick-carousel-slider design="design-6" centermode="true" slidestoshow="3"]

About Author

admin_news

admin_news

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Only registered users can comment.

Sponsored Ad

SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS SPONSORED ADS

LATEST ARTICLES

    70% capacity of pvt labs for testing Covid-19 lies unused

70% capacity of pvt labs for testing Covid-19 lies unused

Read Full Article