पाकिस्तान के बलूचिस्तान में भारी बारिश से 15 की मौत

इस्लामाबाद 03 अगस्त : पाकिस्तान के बलूचिस्तान में मूसलाधार बारिश और अचानक आई बाढ़ से मरने वालों की संख्या 15 तक पहुंच गयी है।

समाचारपत्र डॉन ने बुधवार को रिपोर्ट में बताया कि भारी बारिश और बाढ़ से कई जिले प्रभावित हुए हैं, कई घर नष्ट हो चुके हैं और आधारभूत सुविधाओं को नुकसान पहुंचा है। अधिकारियों ने कहा कि पिछले 24 घंटों में बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ से झोब, किला सैफुल्ला, कोहलू, नौशकी और लासबेला में लोगों की मौत की रिपोर्ट मिली है।

झोब में स्थानीय प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि मौसमी नाले को पार करने की कोशिश के दौरान अचानक आई बाढ़ में एक व्यक्ति और उसका बेटा बह गए।

नदियों के जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण अवारन के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ आ गई, जबकि सड़कों और पुलों के क्षतिग्रस्त होने के कारण इस जिले का संपर्क अभी भी अन्य क्षेत्रों से कटा हुआ है।

अवारन के माशकी और गज्जर कस्बों में फंसे लोगों को खाद्य सामग्री की कमी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि राहत सामग्री अभी तक इलाके में नहीं पहुंच पाई है। एक अधिकारी ने बताया कि दुकानों में खाने-पीने की चीजें और दैनिक जरूरत की चीजें खत्म हो रही हैं तथा अगर आवारन एवं अन्य इलाकों के बीच यातायात बहाल नहीं किया गया तो स्थिति और खराब हो सकती है।

सूत्रों ने कहा है कि झाल मगसी, गंडावा और जाफराबाद का विशाल क्षेत्र जलमग्न हो गया है क्योंकि लहरी नदी तथा अन्य धाराएं से भी बाढ़ का पानी आ रहा है। जिससे क्षेत्रों में बचाव और राहत कार्यों में बाधा पहुंच रही है। डेरा बुगती और कोहलू में पहाड़ियों पर लगातार हो रही बारिश मौसमी जलाश्यों में पानी भर गया है जिससे नसीराबाद के निचले इलाकों में लोगों के लिए खतरा बन गया है।

लासबेला जिला प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले दो दिनों से बाढ़ के पानी में फंसे 200 से अधिक लागों को बचाया गया है।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.