हज पर न जा पाने वालों के 2100 करोड़ रुपये किए गए वापसः नकवी

नई दिल्ली, 26 सितम्बर । केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मुम्बई स्थित हज हाउस में हज कमेटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों के साथ हज 2021 की तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक की। इस मौके पर हज कमेटी के सीईओ एम ए खान एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

इस अवसर पर मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि भारत सरकार की शत प्रतिशत डिजिटल हज व्यवस्था का नतीजा है कि कोरोना के चलते हज 2020 पर ना जा पाने वाले 1 लाख 23 हजार लोगों के 2100 करोड़ रुपये बिना किसी कटौती के वापस कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि सऊदी अरब सरकार ने 2018-19 के हज यात्रियों का लगभग 100 करोड़ रुपया वापस किया है। इस पैसे को हज कमेटी ऑफ इंडिया हज यात्रियों को उनके बैंक खातों में सीधे तौर से वापस कर रही है। इसके अलावा पिछले 3 साल के दौरान हज यात्रियों का लगभग 514 करोड़ सरप्लस पैसा भी हज यात्रियों को उनके बैंक खातों में वापस किया गया है। 
उन्होंने बताया कि हज कमेटी ऑफ इंडिया और अन्य भारतीय एजेंसियों द्वारा हज 2021 के लिए आवेदन फार्म वितरण और उसे भर कर प्राप्त करने, अन्य तैयारियां अक्टूबर और नवम्बर महीने से से शुरू कर दी जाएंगी।  सऊदी सरकार द्वारा हज 2021 के सम्बन्ध में आवश्यक गाइडलाइन्स जल्द जारी किए जाने की उम्मीद है। भारतीय एजेंसियां सऊदी सरकार से संपर्क-समन्वय कर रही हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय हज यात्रियों को बेहतर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया हमेशा से सऊदी अरब में अनेक एजेंसियों के साथ मिलकर काम करती है। इस बार भी कमेटी अच्छा काम करेगी। उम्मीद है कि आने वाला हज कोरोना वायरस महामारी की वजह से काफी बदलाव के साथ होगा। इसलिए हमें सऊदी अरब सरकार की तरफ हज के लिए जारी की जाने वाली गाइडलाइन का इंतजार है। जब गाइडलाइन जारी हो जाएगी उसी के अनुसार भारत से हज यात्रियों को सऊदी अरब भेजने की तैयारी की जाएगी।
(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *