21st foundation day of jharkhand assembly : सदन में जनता के हितों से जुड़े सवाल बेहतर तरीके से पूछे जाएं : राज्यपाल

Insight Online News

रांची। झारखंड विधानसभा का 21वां स्थापना दिवस समारोह शुरू हो गया है। राज्यपाल रमेश बैस और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समारोह में मौजूद हैं। विश्रामपुर के विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी को भगवान बिरसा मुंडा उत्कृष्ट विधायक सम्मान से सम्मानित किया गया। चंद्रवंशी राज्य सरकार के पूर्व मंत्री रह चुके हैं। बिहार सरकार में भी वे मंत्री रह चुके हैं। राज्यपाल रमेश बैस ने उन्हें किया सम्मानित किया। झारखंड विधानसभा की 21वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित समारोह में स्पीकर रबींद्र नाथ महतो, संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम समेत कई मंत्री मंच पर मौजूद हैं।

मौके पर राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि सदन में वाद-विवाद में गंभीरता रहे, इस पर ध्यान देने की जरूरत है। विधायक जनता के प्रति जवाबदेह हों। सदन में जनता के हितों से जुड़े सवाल बेहतर तरीके से पूछे जाएं, ताकि सरकार से उनका जवाब आ सके। विपक्ष सदन में अपनी रचनात्मक भूमिका निभाए।

राज्यपाल ने कहा कि हाल के दिनों में सदन की कार्यवाही में काफी बदलाव आया है। छोटी-छोटी बातों को लेकर सदन की कार्यवाही बाधित करने, स्थगित करने की परंपरा बनती जा रही है। विधयक पीठासीन पदाधिकारी के सामने चिल्लाने लगते हैं। उन्होंने कहा कि शायद सदन की कार्यवाही का सीधा प्रसारण होने के कारण विधायक समझते हैं कि जनता उन्हें देख रही है। जनता इसकी सराहना करेगी, यह सोच बदलने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड पहला राज्य है जिसने अनुसूचित जाति एवं जनजाति के युवाओं को विदेशों में उच्च शिक्षा के लिए शत-प्रतिशत स्कालरशिप देने का काम किया है। खिलाड़ियों की सीधी नियुक्ति की है। यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।

उत्कृष्ट विधायक के रूप में सम्मनित होने के बाद राज्य सरकार के पूर्व मंत्री एवं विश्रामपुर विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि वे शहीदों के बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाएंगे। उन्होंने घोषणा की कि इनके बच्चों को इंजीनियर बनाएंगे। ज्ञात हो कि रामचंद्र चंद्रवंशी का पलामू जिले में इंजीनियरिंग कालेज भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *