Abortion Update : पोलैंड में गर्भपात फिर बना मुद्दा, अबॉर्शन पर प्रतिबंध हटाने की मांग लेकर सड़कों पर उतरीं महिलाएं

  • गर्भ हमारा, उस पर कोर्ट फैसला देने वाला कौन?

यूरोपीय देश पोलैंड में पहले से ही सख्त गर्भपात कानून को कोर्ट द्वारा और सख्त करने पर 30 हजार से ज्यादा महिलाएं सड़कों पर उतर आईं। उन्होंने गुरुवार को कोर्ट के बाहर और सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं के घर के बाहर प्रदर्शन किया। महिलाओं ने

गर्भपात को संवैधानिक करने की मांग की।
महिलाओं का कहना था- ‘गर्भ हमारा, उस पर अधिकार भी हमारा होना चाहिए। इस पर कोर्ट या राजनीतिक फैसलों का दबाव क्यों? हमें इस कानून से आजादी दी जाए।’ दरअसल, पोलैंड का गर्भपात कानून 1993 में पारित हुआ था।
इसके अनुसार गर्भपात उसी हालत में मुमकिन है, जब मां की जान को खतरा हो। इसमें भी ऐसा सिर्फ 12वें हफ्ते तक ही किया जा सकता है। यदि कोई डॉक्टर गर्भपात कराता भी है तो उसे 8 साल तक जेल हो सकती है।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES