ABP-Cvoter Exit Poll: बंगाल में ममता की हैट्रिक, असम में फिर बीजेपी सरकार, जानें बाकी राज्यों का हाल

Insight Online News

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल, असम समेत 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए एग्जिट पोल आने शुरू हो गए हैं। नतीजे 2 मई को आएंगे। एबीपी-सी वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक पश्चिम बंगाल में टीएमसी और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर हुई है लेकिन ममता बनर्जी के लगातार तीसरी बार सत्ता में आने की भविष्यवाणी की गई है। वहीं, इंडिया टुडे-एक्सिस माइ इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक असम में एक बार फिर बीजेपी सरकार बना सकती है।

बंगाल में ममता की हैटट्रिक- सी-वोटर
एबीपी न्यूज-सी वोटर के सर्वे के मुताबिक, यहां बीजेपी ने टीएमसी को बहुत ही कड़ी टक्कर दी है लेकिन सूबे में पहली बार सरकार बनाने के लिए अभी उसे इंतजार करना पड़ेगा। सी-वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में टीएमसी को 152 से 164 सीटें मिल सकती हैं। जबकि बीजेपी के खाते में 109 से 121 सीटें जा सकती हैं। कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन को 14 से 25 सीटें मिलने का अनुमान है। सभी 5 राज्यों को मिलाकर कुल 822 विधानसभा सीटों पर वोटिंग हुई है। बंगाल की 2 सीटों पर एक-एक उम्मीदवार की मौत की वजह से वोटिंग बाद में होगी।

बंगाल में पहली बार बीजेपी सरकार- रिपल्बिक-सीएनएक्स
हालांकि, रिपब्लिक-सीएनएक्स के एग्जिट पोल के मुताबिक बंगाल में पहली बार बीजेपी सत्ता में आ सकती है। एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को 138 से 148 सीटें मिल सकती हैं। टीएमसी को 126 से 136 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस-लेफ्ट गठबंधन को 6 से 9 सीटें और अन्य को 1 से 3 सीटें मिल सकती हैं।

असम में फिर से बीजेपी सरकार की भविष्यवाणी
असम में विधानसभा की कुल 126 सीटें हैं और यहां बहुमत का आंकड़ा 63 है।

इंडिया टुडे-एक्सिस माइ इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक 126 सीटों वाले असम में एक बार फिर से बीजेपी+ सरकार बना सकती है। बीजेपी+ को 75 से 85 सीटें और कांग्रेस+ को 40 से 50 सीटें मिल सकती हैं। अन्य के खाते में 1 से 4 सीटें जाने का अनुमान है।

पश्चिम बंगाल में आठवें और आखिरी चरण की वोटिंग आज खत्म हुई। सबसे दिलचस्प मुकाबला यहीं पर देखने को मिल रहा है जहां ममता बनर्जी के सामने लगातार तीसरी बार सत्ता बचाए रखने की चुनौती है। यहां मुख्य मुकाबला सत्ताधारी टीएमसी, बीजेपी और लेफ्ट-कांग्रेस गठबंधन के बीच है।

असम में मुख्य मुकाबला बीजेपी की अगुआई वाली एनडीए और कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए के बीच है। यहां बीजेपी के सामने सत्ता बचाए रखने की चुनौती है। केरल में मुख्य मुकाबला सत्ताधारी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट और कांग्रेस की अगुआई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के बीच है। तमिलनाडु में मुख्य मुकाबला सत्ताधारी एआईएडीएमके और स्टालिन के नेतृत्व वाली डीएमके के बीच है। वहीं, पुडुचेरी में मुख्य मुकाबला एनडीए और यूपीए के बीच है।

294 विधानसभा सीटों वाले पश्चिम बंगाल में 292 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल तक 8 चरणों में चुनाव हुए। 2 सीटों पर एक-एक उम्मीदवार की मौत की वजह से वहां वोटिंग नहीं हुई। पश्चिम बंगाल में मुख्य मुकाबला सत्ताधारी टीएमसी, बीजेपी और लेफ्ट-कांग्रेस गठबंधन के बीच है।

126 विधानसभा सीटों वाले असम में 3 चरणों में 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को वोटिंग हुई। यहां मुख्य मुकाबला सत्ताधारी बीजेपी के गठबंधन और कांग्रेस की अगुआई वाले गठबंधन के बीच है। तमिलनाडु की सभी 234 सीटों, केरल की 140 और पुडुचेरी की 30 सीटों के लिए एक ही चरण में 6 अप्रैल को वोट डाले गए।

साभार: NBT/ABP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *