HindiNationalNews

वायु सेना प्रमुख ने हैदराबाद में 235 फ्लाइट कैडेट्स को दिए राष्ट्रपति कमीशन

  • कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड में 25 कैडेटों को अधिकारी के रूप में कमीशन दिया गया
  • परेड के समापन पर रोमांचक फ्लाई पास्ट और एरोबैटिक शो में हवाई करतब

नई दिल्ली। हैदराबाद के डुंडीगल स्थित वायु सेना अकादमी में शनिवार को भारतीय वायु सेना की फ्लाइंग और ग्राउंड ड्यूटी शाखाओं के फ्लाइट कैडेटों के प्री-कमीशनिंग प्रशिक्षण के सफल समापन को चिह्नित करने के लिए कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड हुई। पारंपरिक सैन्य भव्यता के साथ वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने परेड के समीक्षा अधिकारी के तौर पर 235 स्नातक फ्लाइट कैडेटों को उनके प्रशिक्षण के सफल समापन पर राष्ट्रपति कमीशन प्रदान किया।

वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड में 22 महिला अधिकारी शामिल थीं, जिन्हें भारतीय वायु सेना की विभिन्न शाखाओं में कमीशन मिला। समारोह में भारतीय नौसेना के 09, भारतीय तटरक्षक बल के 09 और मित्र विदेशी देशों के 01 अधिकारी को भी ‘विंग्स’ से सम्मानित किया गया। यह पहली परेड है, जिसमें 25 कैडेटों को अधिकारी के रूप में कमीशन दिया गया, जो 4 वर्ष पहले ग्राउंड ड्यूटी शाखाओं के लिए राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में शामिल हुए थे। इनमें से 5 अधिकारियों को प्रशासन शाखा में, 3 को लॉजिस्टिक्स शाखा में तथा 17 को भारतीय वायुसेना की तकनीकी शाखा में कमीशन दिया गया है।

वायु सेना प्रमुख का स्वागत ट्रेनिंग कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ एयर मार्शल नागेश कपूर और वायु सेना अकादमी के कमांडेंट एयर मार्शल एस श्रीनिवास ने किया। परेड कमांडर की सलामी के बाद एक शानदार मार्च पास्ट हुआ। परेड के दौरान चार ट्रेनर विमानों ने फ्लाई-पास्ट किया, जिसमें पिलाटस पीसी-7 एमके-11, हॉक, किरण और चेतक हेलीकॉप्टर शामिल थे। परेड का मुख्य आकर्षण ‘कमीशनिंग समारोह’ था, जिसमें ग्रेजुएट फ्लाइट कैडेट्स को समीक्षा अधिकारी ने उनके ‘रैंक और विंग्स’ से सम्मानित किया। इसके बाद ग्रेजुएट अधिकारियों को अकादमी के कमांडेंट ने देश की सुरक्षा, संरक्षा, संप्रभुता और सम्मान की रक्षा करने की शपथ दिलाई।

फ्लाइंग ब्रांच के फ्लाइंग ऑफिसर हैप्पी सिंह को पायलट कोर्स में समग्र योग्यता क्रम में प्रथम स्थान पर आने के लिए राष्ट्रपति की पट्टिका और ‘चीफ ऑफ द एयर स्टाफ स्वॉर्ड ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया। फ्लाइंग ऑफिसर तौफीक रजा को ग्राउंड ड्यूटी ऑफिसर्स कोर्स में समग्र योग्यता क्रम में प्रथम स्थान पर आने के लिए राष्ट्रपति की पट्टिका से सम्मानित किया गया। परेड को संबोधित करते हुए वायु सेना प्रमुख ने नए कमीशन प्राप्त अधिकारियों को उनके बेदाग टर्न आउट, सटीक ड्रिल मूवमेंट और परेड के उच्च मानकों के लिए बधाई दी। उन्होंने भारतीय नौसेना, भारतीय तटरक्षक और मित्र देशों के अधिकारियों को भी बधाई दी, जिन्होंने आज अपने ‘फ्लाइंग विंग्स’ अर्जित किए।

परेड का समापन नए कमीशन प्राप्त अधिकारियों ने रवींद्रनाथ टैगोर के ‘आनंदलोक’ के पारंपरिक स्वरों पर धीमी गति से मार्च करके किया। कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड के समापन पर पिलाटस पीसी-7 एमके-2, एसयू-30 एमकेआई, सूर्य किरण एरोबैटिक टीम और सारंग हेलीकॉप्टर डिस्प्ले टीम एरोबैटिक शो का हिस्सा थे। वायु सेना अधिकारियों के जीवन में आज का कमीशनिंग समारोह इसलिए भी स्मरणीय रहेगा, क्योंकि उन्होंने अपने माता-पिता की उपस्थिति में अपना ‘रैंक’ हासिल किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *