Amit Shah : वंचितों और जनजातीय समुदायों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है भाजपा सरकारें – अमित

जबलपुर, 18 सितंबर : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर जनजातीय समुदायों के लिए कुछ भी नहीं करने और उनका सिर्फ वोट के लिए इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सभी वंचितों खासतौर से जनजातीय समुदायों के विकास के प्रतिबद्ध है और इस दिशा में कार्य भी कर रही है।

श्री शाह ने यहां अमर शहीद जनजातीय नायक राजा शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते और प्रहलाद पटेल, राज्य की जनजातीय मंत्री मीना सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, राज्य के मंत्री गोपाल भार्गव, नरोत्तम मिश्रा और अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।

श्री शाह ने अमर शहीद राजा शंकर शाह और उनके पुत्र रघुनाथ शाह के शौर्य की गाथा का संक्षेप में जिक्र किया और कहा कि वे देश के लिए अंग्रेजों के आगे झुके नहीं और हंसते हंसते शहीद हो गए। उन्होंने कहा कि जनजातीय समुदाय से आने वाले इन शहीद पिता पुत्र जैसे देश में और भी वीर हैं, लेकिन इतिहास में उन्हें पर्याप्त स्थान नहीं मिला। लेकिन भाजपा सरकारों ने आजादी के अमृत महोत्सव के तहत ऐसे ही शहीदों को उनका उचित स्थान दिलाने और इस बारे में आन वाली पीढि़यों को अवगत कराने का कार्य प्रारंभ किया है।

श्री शाह ने कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्यों की सरकारें वंचितों खासतौर से जनजातीय समुदायों के संपूर्ण विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस दिशा में मोदी सरकार ने पिछले सात सालों के दौरान अनेक कदम उठाए। मध्यप्रदेश समेत अन्य राज्यों की भाजपा सरकारें भी जनजातीय समुदायों के विकास के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सिर्फ कहती ही नहीं है, बल्कि कही हुयी चीजों को धरातल पर भी उतारती है। उन्होंने इस संबंध में अनेक आकड़े भी पेश किए।

श्री शाह ने आरोप लगाया कि इसके उलट कांग्रेस जनजातीय के विकास के बारे में सिर्फ बातें करती हैं। उसने आदिवासियों के विकास के लिए कुछ नहीं किया और सिर्फ उनका वोट के लिए उपयोग किया। जबकि भाजपा ने जनजातीयों के गौरव को बरकरार रखते हुए उन्हें घर, बिजली, सड़क, पानी और अन्य सुविधाएं मुहैया करायीं। इसके अलावा भाजपा वर्ग संघर्ष में नहीं वर्ग समन्वय में विश्वास करती है और उसके अनुरूप कार्य करती है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राज्य में जनजातीय हितों के लिए अनेक घोषणाएं की और कहा कि छिंदवाड़ा में स्थित विश्वविद्यालय का नाम राजा शंकर शाह के नाम पर होगा।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *