Amit Shah : जम्मू-कश्मीर में विकास का नया युग शुरू, नहीं होगा कोई अन्याय : शाह

जम्मू । जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद मैं पहली बार आया हूं और अब जम्मू-कश्मीर में विकास का नया युग शुरू हो गया है। जम्मू के साथ अब कोई अन्याय नहीं होगा, उसे उसका बराबर का हक मिलेगा। अब जम्मू और कश्मीर दोनों का समान रूप से विकास होगा।
यह बातें केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू के भगवती नगर में एक बड़ी रैली को सम्बोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पांच अगस्त 2019 को एक ऐतिहासिक फैसला लेकर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया जो जम्मू-कश्मीर के विकास व समृद्धि में एक बड़ी बाधा बनी हुई थी। इसके चलते सभी को समान रूप से नौकरियां नहीं मिलती थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। प्रदेश के आदिवासी लोगों को वन अधिकार दिए गए। जम्मू-कश्मीर में पहले चार मेडिकल कॉलेज थे लेकिन अब सात नए कॉलेज बनाए जा रहे हैं जिनमें से पांच बन गए हैं और दो अन्य भी जल्द बनकर तैयार हो जाएंगे।

उन्होंने कहा कि आज ही आईआईटी कैंपस की शुरुआत हुई है इसमें सभी आधुनिक सुविधाएं मौजूद रहेंगी और इसमें 35 हजार युवा प्रशिक्षण ले सकेंगे। प्रदेश में 25 हजार युवाओं को नौकरियां दी जा चुकी हैं और आज भी हमने सात हजार लोगों को नौकरी के लिए नियुक्ति पत्र सौंपे हैं। उन्होंने कहा कि तीन परिवार हमारा मजाक उड़ाते थे कि जम्मू-कश्मीर में कौन निवेश करेगा परन्तु आज करोड़ों का निवेश जम्मू-कश्मीर में हो रहा है। प्रदेश में एक हजार लोगों को वन अधिकार के दस्तावेज सौंपे गए हैं। जम्मू-कश्मीर में 15 हजार विकास कार्य शुरू किए हैं। पूर्व की सरकारों ने इन्हें करने में कभी भी दिलचस्पी नहीं दिखाई।
अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप रहने वाले लोगों को आरक्षण दे दिया गया है। बहुत जल्द गुज्जर समुदाय को भी आरक्षण दे दिया जाएगा। जम्मू में जल्द ही मेट्रो दौड़ती नजर आएगी। प्रदेश के हरेक जिले में हेलिपेड बनाया जाएगा। प्रदेश के हरेक गांव को 20 से 22 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए पक्कल, दूलहस्ती से बात की गई है। मोदी जी के दिल में जम्मू-कश्मीर को लेकर हमेशा चिंता रहती है। आयुषमान योजना जम्मू-कश्मीर के सभी लोगों के लिए हैं। कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश में शत प्रतिशत टीकाकरण हुआ जिसके लिए आप सभी बधाई के पात्र हैं।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के अपने तीन दिवसीय दौरे पर हैं। वह शनिवार को श्रीनगर पहुंचे और रविवार को जम्मू पहुंचे हैं। रैली से पूर्व उन्होंने नगरोटा स्थित आईआईटी नगरोटा में ब्लाक का उद्घाटन किया। अमित शाह ने जीएमसी ऊधमपुर का नींव पत्थर रखा और केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लाभार्थियों में चेक वितरित किए। उन्होंने मंच पर मिशन यूथ के अंतर्गत शफ्कत अली और रमन सिंह को नियुक्ति पत्र सौंपे। अमित शाह ने तेजस्विनी योजना के अंतर्गत शिवानी रेखी, सुनीता रानी और वीना को भी नियुक्ति पत्र सौंपेने के साथ ही चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौंपे हैं जिनका हाल ही में चयन हुआ है। इसके अलावा उन्होंने केंद्र की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का भी उद्घाटन किया।
इस अवसर पर जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के ग्रामीण और शहरी लोगों के जीवन को सुगम बनाने के लिए कई कल्याणकारी कदम उठाए गए हैं। सरकार ने वाल्मीकि समाज के लोगों को अधिकार दिए हैं। प्रदेश आठ हजार युवाओं को पहली बार पारदर्शिता तरीके से रोजगार दिया गया है। हमारी सरकार ने प्रदेश में रहने वाले महाजन और सिख समुदाय के लोगों को कृषि योग्य भूमि खरीदने का अधिकार भी दे दिया है।

सिन्हा ने कहा कि प्रदेश ने स्वच्छता अभियान में तीसरा स्थान हासिल किया है जो सभी के लिए गौरव की बात है। प्रदेश के स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। गृह मंत्री के सहयोग से हमने रिट्रीट सेरामनी शुरू की है। जम्मू कश्मीर सरकार ने प्रदेश में निवेश के लिए 60 हजार के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। प्रदेश सरकार प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से वचनबद्ध है। पीएमओ में केन्द्रीय राज्यमंत्री जितेन्द्र सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर को एक नई दिशा दी है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *