Amit Shah : देश कोविड महामारी के परछाई से बाहर आ गया है

Insight Online News

नयी दिल्ली 11 नवम्बर : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज कहा कि देश सौ करोड़ से अधिक टीकाकरण की उपलब्धि हासिल कर कोविड महामारी की परछाई से करीब-करीब बाहर आ चुका है।

श्री शाह ने गुरूवार को यहां राष्ट्रपति भवन में राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों के राज्यपालों तथा उप राज्यपालों के 51 वें सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि देश ने कोविड महामारी का पूरी सफलता से सामना किया है और सौ करोड़ से अधिक टीकाकरण की उपलब्धि के बाद हम कोविड महामारी के साये से लगभग बाहर आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश ने एक राष्ट्र एक जन और एक मन के सूत्र को चरितार्थ करते हुए जिस तरह से लड़ाई लडी पूरी दुनिया ने उसकी सराहना की है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस दौरान लगभग 20 बार सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत कर राज्यों का मार्गदर्शन किया। उन्होंने राज्यपालों के साथ भी बात कर इस अभियान में राजभवनों को भी शामिल कर उनकी भूमिका सुनिश्चित की थी।

श्री शाह ने कहा कि हाल ही में संपन्न कॉप 26 सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने महत्वाकांक्षी लक्ष्यों का उल्लेख करते हुए बडे ही प्रभावशाली ढंग से दुनिया के सामने भारत का पक्ष रखा। उन्होंने भारत की ओर से पांच अमृत तत्व भी रखे हैं। उन्होंने कहा, “ यह हम सब के लिए बड़ी चुनौती है और जब हम इन्हें हासिल करेंगे तो यह हमारे लिए बडी सिद्धि भी होगी। वर्ष 2030 से 2070 के बीच पूरे किये जाने वाले इन लक्ष्यों को हासिल करने में हमारी युवा पीढी की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होगी।” उन्होंने राज्यपालों से कहा कि इन लक्ष्यों के बारे में सभी शिक्षण संस्थानों में सभी युवाओं को जागरूक किये जाने तथा उनका योगदान सुनिश्चित करने की जरूरत है। “ सरकार भी अपनी ओर से प्रयास करेगी लेकिन जनता को जोड़ने की जो बात है उसमें राज्यपालों की भी अपनी भूमिका है और उन्हें उम्मीद हैं कि सब इस दिशा में भरपूर प्रयास करेंगे। ”

उन्होंने कहा कि यह आजादी के अमृत महोत्सव का वर्ष है और इसे देखते हुए इस सम्मेलन का महत्व और भी अधिक बढ जाता है। राज्यपालों द्वारा सरकार के सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मूलमंत्र को ध्यान में रखकर इस महोत्सव को सफल बनाने में सबकी अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित किये जाने की भी जरूरत है।

संजीव, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *