Amrit Mahotsav : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुरू किया ‘आजादी का अमृत महोत्सव’

नई दिल्ली, 13 अगस्त । रक्षा मंत्रालय के अधीन सशस्त्र बल और विभिन्न संगठन भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर देश भर में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाने के लिए कई तरह के आयोजन कर रहे हैं। इसी क्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को औपचारिक रूप से वर्चुअल कई कार्यक्रमों का शुभारंभ किया। इन कार्यक्रमों में सीमा सड़क संगठन, भारतीय तटरक्षक, भारतीय नौसेना, थल सेना, एनसीसी कैडेट्स शामिल होंगे। इसके अलावा डीआरडीओ के वैज्ञानिकों की एक टीम स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए सीमा क्षेत्र के गांवों में जाएगी।

देश के 75 पहाड़ी स्थानों पर बीआरओ फहराएगा तिरंगा

स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) देश के 75 महत्वपूर्ण पहाड़ी मार्गों और अन्य स्थानों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराकर सीमा के बुनियादी ढांचे के विकास में अपने संकल्प को प्रदर्शित करेगा। बीआरओ की 75 टीमें आज ही इन सुदूर पहाड़ी मार्गों के लिए रवाना होंगी। उनमें से सबसे प्रमुख ‘उमलिंगला दर्रा’ है, जो पूर्वी लद्दाख में 19,300 फीट पर दुनिया की सबसे ऊंची वाहन चलाने योग्य सड़क है। मित्र देशों के अलावा पूर्वोत्तर में अटल सुरंग, रोहतांग और ढोला सादिया ब्रिज जैसे प्रमुख स्थलों पर भी तिरंगा फहराया जाएगा।

भारतीय तटरक्षक 100 द्वीपों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराएगा

भारतीय तटरक्षक 15 अगस्त को ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत पूरे भारत में 100 द्वीपों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराएगा। यह कार्यक्रम 13 अगस्त यानी आज से शुरू होगा।

नौसेना के जवान लगायेंगे आजादी की दौड़

भारतीय नौसेना के जवान, उनके परिवार और नौसेना अधिकारी नई दिल्ली स्थित मेस वरुण में आजादी की दौड़ में भाग लेंगे। रक्षा मंत्री ने आभासी तरीके से फ्रीडम रन को हरी झंडी दिखाई। यह दौड़ ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाने के लिए आज देश भर में लॉन्च किए गए फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 का हिस्सा है।

भारतीय सेना की टीमें 75 पर्वतीय दर्रों को पार करेंगी

आम नागरिकों के बीच गर्व और विश्वास की भावना पैदा करने के लिए भारतीय सेना की टीमें ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाने के लिए 75 पर्वतीय दर्रों को पार करेंगी। इनमें लद्दाख क्षेत्र में ससेरला दर्रा, कारगिल क्षेत्र में स्टेकपोचन दर्रा, सतोपंथ, हर्षिल, उत्तराखंड, फिम करनाला, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के तवांग क्षेत्र में प्वाइंट 4493 शामिल हैं। रक्षा मंत्री ने आज ही इस कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाकर सेना की टीमों को रवाना किया। सेना की पैराट्रूपर्स टीम के 75 स्काई डाइवर्स आज ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम के तहत आसमान से पैरा जम्पिंग करके जमीन पर उतरे।

एनसीसी कैडेट्स करेंगे मूर्तियों की सफाई

भारत की आजादी में अमूल्य भूमिका निभाने वाले स्वतंत्रता सेनानियों और देश के वीरों को श्रद्धांजलि देने के लिए राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) ‘स्वतंत्रता सेनानियो को नमन’ अखिल भारतीय कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। इस दौरान एनसीसी के 825 कैडेट्स पहले से अपनाई गई 825 प्रतिमाओं की सफाई और रखरखाव का कार्य करेंगे।

वीरता पुरस्कार पोर्टल के लिए क्राउड सोर्सिंग मॉड्यूल

वीरता पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित करने और युवाओं को वीरता पुरस्कार पोर्टल (https://www.gallantryawards.gov.in/) से जोड़ने के लिए ‘पुरस्कार विजेताओं का गैलेंट्री पीडिया’ शुरू किया जायेगा। लोग पुरस्कार विजेताओं के बारे में अपनी विषयवस्तु साझा करने पाएंगे जो पोर्टल को अधिक आकर्षक, गतिशील और सूचना प्रदान करने वाला बनाने में मदद करेगा। पोर्टल वीरता पुरस्कार विजेताओं की शौर्य गाथा समग्र रूप से प्रदर्शित करने और जश्न मनाने का इकलौता मंच है।

‘डीड्स ऑफ गैलेंट्री’ पुस्तक का विमोचन

इस मौके पर रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध में भारत की जीत का जश्न मनाने के लिए ‘डीड्स ऑफ गैलेंट्री’ पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक में 20 चयनित लड़ाइयों का विवरण देने के साथ ही भारतीय सैनिकों की वीरता का उल्लेख किया गया है।

रक्षा उत्पाद और निर्यात क्षमताओं का प्रदर्शन

रक्षा निर्यात क्षमताओं का प्रदर्शन और विस्तार करने के लिए रक्षा मंत्री ने विभिन्न उत्पादों, सुविधाओं का शुभारंभ किया। गोवा शिपयार्ड लिमिटेड (जीएसएल) ने ‘ऑफ द शेल्फ’ एक्सपोर्ट रेडी डिफेंस प्रोडक्ट्स पोर्टफोलियो की शुरुआत फास्ट इंटरसेप्टर बोट से की। इसके अलावा भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) द्वारा विकसित एक ट्रांसड्यूसर विनिर्माण और उत्पादन सुविधा लांच की गई जो पानी के भीतर ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर की विस्तृत श्रृंखला के उत्पादन के लिए आसपास की वायु से ऑक्सीजन अणुओं को फ़िल्टर करता है जिससे रोगियों को 90-95 फीसदी शुद्ध ऑक्सीजन प्राप्त हो सके।

पूर्व सैनिकों के लिए जनसंपर्क अभियान

भूतपूर्व सैनिकों की समस्याओं के समाधान के उद्देश्य से जन संपर्क अभियान शुरू किया गया जिसमें संबंधित जिला सैनिक बोर्ड का एक प्रतिनिधि एक मान्यता प्राप्त ईएसएम एसोसिएशन इंडियन एक्स-सर्विसमैन लीग के प्रतिनिधि के साथ एक साथ देश भर के 75 जिलों में ईएसएम बिरादरी के साथ बातचीत करेगा। इसका उद्देश्य समयबद्ध तरीके से पूर्व सैनिकों के मुद्दों का समाधान करना है।

देश की 62 छावनियों में 75 जल निकायों का कायाकल्प

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जल संसाधन के संरक्षण के महत्व को रेखांकित करते हुए अंबाला छावनी में पटेल पार्क झील पर कार्य का उद्घाटन कर 62 छावनियों में 75 जल निकायों के कायाकल्प के लिए गतिविधियों को हरी झंडी दिखाई। पारंपरिक और अन्य जल निकायों, टैंकों का कायाकल्प जल शक्ति अभियान के हस्तक्षेप वाले क्षेत्रों में से एक है, जो एक समयबद्ध, मिशन-मोड जल संरक्षण अभियान है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *