Archbishop Update : प्रभु की सेवा के लिए समर्पण भाव जरूरी-बिशप

प्रभु के समर्पण का प्रर्व सह प्ररितों की रानी धर्मसंघ की चार धर्म बहनों के धर्मसंघी जीवन का अंतिम मन्नम संस्कार

Insight Online News

रांची। ऑल सेंट्स चर्च डोरंडा में मंगलवार को मंदिर में प्रभु के समर्पण का पर्व मनाने के साथ-साथ प्ररितों की रानी धर्मसमाज की चार धर्मबहनों ने आज स्वयं को प्रभु की सेवा में आजीवन सपर्तित करने हुए धर्मसंघी जीवन का अंतिम मन्नत धारण किया। धर्मसंघ के इस अंतिम मन्नत धारण के साथ ही प्रेरितों की रानी धर्मसंघ की चारों बहनों ने निर्धनता, अजीवन ब्रह्मचारिता व शुद्धता और आज्ञाकारिता का संकल्प लेते अपना सारा जीवन प्रभु की सेवा और प्रभु के लोगों की सेवा में लिए सपर्पित कर दिया।

आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो इस समारोही मिस्सा के मुख्य अनुष्ठता व उपदेशक रहे। साथ ही बिशप फेलिक्स टोप्पो के आध्यात्मिक दिशा-निर्देश में प्रेतितों की रानी धर्मसंघ की चारों बहनों ने धर्मसंघी जीवन का अंतिम मन्नत धारण की। धर्मसंघी जीवन की अंमित मन्नत धारण करने वाली धर्मबहनों में मिस्टर अनिमा बारला, विनिता कुल्लू, रुफेना डुंगडुंग, पुष्णा किशन आदि शामिल थीं।

आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने अपने संदेश में मंदिर में प्रभु के समर्पण के पर्व की महता पर पर प्रकाश डाला और कहा कि पर्व क्रिसमस के 40 दिन के बाद मनाया जाता है। इस दिन कुमारी मरियम और जोसेफ ने बाल युशू को मंदिर में समर्पित किया। आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कि प्रभु की सेवा और प्रभु के लोगों की सेवा के तीन मूल स्तंभ गिनाये। जिसमें पहला समर्पण का जीवन जीना। जिस तरह प्रभु येशु ने अपना जीवन आपने पिता को समर्पण किया ठीक उसी प्रकार हमें भी अपने जीवन को प्रभु को समर्पण करें।

दूसरा नर्तमा का जीवन जीना। यह बताते हुए उन्होंने सिमियोन और विधवा अन्ना के सामान सादगीपूर्ण जीवन जीने और विनित बनने पर जोर दिया। तीसरा और अंतिम धर्य का जीवन बताते हुऐ कह ा कि जिस तहर कुंआरी मरियम ने धर्य के साथ जीवन जीया हमें भी उसी तरह जीने र्धर्यवान बने रहने की जरूरत है। उपस्थित लोगों में प्रेेरितों की रानी धर्मसंघ रांची के प्रेविशियल सिस्टर कविता जोसेफ, लखनउ की वाइस प्रेविंशियल रेणु मैथ्यु एवं फादर्स, बसर्द व सिस्टरर्स एवं अंतिम मन्नत धारण करने वाली सिस्टरों के परिजन शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES