Arnab Goswami Case : जमानत याचिका पर सोमवार को होगी सुनवाई

मुंबई, 07 नवंबर : रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को बाॅम्बे हाईकोर्ट से शनिवार को भी जमानत नहीं मिल सकी। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को अपना पक्ष रखने का आदेश देते हुए मामले की सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी है।

अर्नब की जमानत याचिका की सुनवाई जस्टिस एसएस शिंदे और जस्टिस एमएस कर्णिक की बेंच के समक्ष शनिवार को हुई। मृतक इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाईक की बेटी आद्या नाईक के वकील सुबोध देसाई ने कोर्ट को बताया कि अन्वय नाईक मामले को बंद किए जाने की कोई सूचना उनके मुवक्विल को नहीं मिली थी।

देसाई ने कोर्ट को बताया कि 5 मई 2018 को अन्वय और उनकी मां कुमुद नाईक के आत्महत्या मामले की जांच सही तरीके से नहीं की गई थी। इस मामले के आरोपित ने जांच को प्रभावित करने का प्रयास किया था। इसके बाद कोर्ट ने इस मामले में सोमवार को राज्य सरकार को अपना पक्ष रखने के लिए कहा है। हाईकोर्ट ने शनिवार को फिर से अर्नब के वकील से कहा कि जमानत के लिए निचली अदालत में जाना चाहिए था। अर्नब के वकील ने उनको अंतरिम जमानत देने की अपनी मांग दोहराई। इसके बाद हाईकोर्ट ने सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी है।

उल्लेखनीय है कि रायगढ़ पुलिस ने इंटीरियर डिजाईनर अन्वय नाईक आत्महत्या मामले में अर्नब गोस्वामी को बुधवार सुबह गिरफ्तार किया था। इसके बाद रायगढ़ जिले के अलीबाग सीजेएम कोर्ट ने अर्नब को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। अर्नब के वकील एबाद पोंडा ने अर्नब की जमानत के लिए गुरुवार को हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर किया था।

शुक्रवार को अर्नब की ओर से एबाद पोंडा, हरीश सालवे और देसाई ने हाईकोर्ट में जिरह किया था और अर्नब को अंतरिम जमानत देने की मांग की थी। शनिवार को भी मामले की सुनवाई के दौरान अर्नब को अंतरिम जमानत देने की मांग उनके वकीलों ने की, लेकिन कोर्ट ने कहा कि मामले के सभी पक्षों को सुनने के बाद ही वह निर्णय लेगा।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *