Bad News in Jharkhand : गुमला में डायन बिसाही के संदेह में ओझा की टांगी से काटकर हत्या, पांच गिरफ्तार

Insight Online News

रायडीह (गुमला): गुमला जिले के रायडीह थाना क्षेत्र के परसा नवाटोली गांव निवासी रंथु मुंडा (70) की हत्या डायन-बिसाही के संदेह में गांव के युवकों ने टांगी से काटकर बुधवार की रात कर दी। घटना की सूचना मिलने पर रायडीह पुलिस गुरुवार को गांव पहुंची। पुलिस ने इस हत्याकांड में गांव के पांच युवक सुधीर मुंडा, छटू मुंडा, बालक मुंडा, रामजीत मुंडा और दशरथ महतो को गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारों की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल की गई टांगी को पुलिस ने कुआं से बरामद कर लिया है।

बुधवार की रात करीब सवा नौ बजे गांव के ही चार-पांच युवकों ने हत्या से पहले रंथु मुंडा के आस पास रहने वाले लोगों के घरों के दरवाजों में बाहर से कुंडी लगा दी, ताकि वे लोग बाहर न निकल सकें। इके बाद रंथु के घर पहुंचे और दरवाजा तोड़कर अंदर घुस गए। फिर गाली गलौज करते हुए उसे घसीट कर घर से बाहर निकला। फिर पत्थर से उसके सिर पर प्रहार किया। पत्‍थर से प्रहार के बाद भी उसे जीवित देखकर टांगी से वार कर उसकी हत्या कर दी।

इस दौरान रंथु मुंडा व उसकी पत्नी जमनी मुंडाई हत्यारों के सामने हाथ जोड़ते रहे लेकिन उनलोगों ने उनकी एक नहीं सुनी। हत्या के बाद हत्यारों ने टांगी को पास के कुआं में फेंक दिया। मृतक झाड़ फूंक (ओझा मती) का कार्य करता था। ग्रामीणों के अनुसार हत्यारा सुधीर मुंडा जोर-जोर से चिल्लाकर कह रहा था कि जादू टोना कर रंथु मुंडा ने उसकी बहन को मारा है। वे लोग रंथु को जिंदा नहीं छोड़ेंगे। सुधीर की बहन संगीता कुमारी गांव के ही युवक अजय मुंडा के साथ लिव इन रिलेशन में रह रही थी।

इसी क्रम में वह गर्भवती हो गई और रांची में इलाज के दौरान पिछले सोमवार को उसने दम तोड़ दिया था। बहन की मौत से सुधीर आक्रोशित था और मौका मिलते ही ओझा की हत्या कर दी। रंथु व उसकी पत्नी जब शोर मचा रहे थे तो गांव के लोगों ने दरवाजा खोलने का प्रयास किया लेकिन बाहर से कुंडी लगे होने के कारण वे लोग घर से बाहर नहीं निकल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *