BCCI Update : बीसीसीआई ने श्रीलंका से आईपीएल में बबल टू बबल ट्रांसफर की अनुमति दी

नयी दिल्ली, 07 अगस्त : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने आईपीएल के शेष चरण के लिए हाल ही में समाप्त हुई श्रीलंका-भारत सफेद गेंद श्रृंखला में शामिल खिलाड़यिों के लिए बबल टू बबल ट्रांसफर की अनुमति देने का फैसला किया है।

इस दौरे के दौरान क्रुणाल पांड्या के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद पैदा हुए स्वास्थ्य खतरे के बावजूद यह निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि क्रुणाल के संक्रमित होने के बाद नौ भारतीय खिलाड़यिों को क्वारंटीन में जाने के चलते मजबूरन कुछ मैचों से बाहर होना पड़ा था। बीसीसीआई के इस फैसले के बाद 19 सितंबर को फिर से शुरू हो रहे आईपीएल 2021 सत्र में बबल टू बबल ट्रांसफर से खिलाड़यिों को छह दिन के अनिवार्य क्वारंटीन से छूट होगी। इसी तरह की छूट इंग्लैंड, कैरेबियन प्रीमियर लीग और दक्षिण अफ्रीका के श्रीलंका दौरे में भाग लेने वाले खिलाड़यिों को भी दी गई है।

बीसीसीआई ने यहां शुक्रवार को जारी 46 पन्नों की स्वास्थ्य एडवाइजरी में कहा, इंग्लैंड-भारत श्रृंखला, श्रीलंका-दक्षिण अफ्रीका श्रृंखला और कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) के लिए बनाए गए बायो बबल से सीधे आने वाले खिलाड़यिों और टीम के सहायक कर्मचारियों को अनिवार्य क्वारंटीन के बिना उनकी संबंधित टीम में शामिल होने की अनुमति दी जा सकती है, बशर्ते वे कुछ जरूरी मानदंडों को पूरा करें। इन तीन श्रृंखलाओं में जुड़े कमेंटेटर्स और ब्रॉडकास्ट क्रू भी मानदंडों को पूरा करते हुए बबल टू बबल ट्रांसफर का लाभ उठा सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि सीपीएल और इंग्लैंड-भारत श्रृंखला से पहले ही बबल टू बबल ट्रांसफर की उम्मीद थी, लेकिन फ्रेंचाइजियां श्रीलंका में पहले क्रुणाल पांड्या और बाद में युजवेंद्र चहल और कृष्णाप्पा गौतम के कोरोना संक्रमित पाए जाने के कारण छह खिलाड़यिों के श्रृंखला के बीच में ही क्वारंटीन में जाने के बाद से इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं थी कि क्या श्रीलंका-दक्षिण अफ्रीका श्रृंखला से आने वालों के लिए भी यही प्रावधान किया जाएगा या नहीं। श्रीलंका को 14 सितंबर से तीन वनडे और तीन टी-20 मैचों के लिए दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करनी है।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *