Bengal : बंगाल सरकार ने शुरू की बांग्लादेशी कैदियों को स्वदेश भेजने की प्रक्रिया

कोलकाता, 11 सितम्बर। पश्चिम बंगाल सुधार सेवा विभाग ने लगभग 650 बांग्लादेशी कैदियों को वापस उनके देश भेजने की आधिकारिक प्रक्रिया शुरू कर दी है। ये ऐसे कैदी हैं जिन्होंने सजा पूरी कर ली है और विभिन्न जेलों में फंसे हुए हैं। यह कोरोना महामारी के मद्देनजर जेलों में भीड़ को रोकने के लिए विभाग द्वारा उठाए गए कई उपायों में से एक है। राज्य के गृह मंत्रालय और केंद्रीय विदेश मंत्रालय के बीच आधिकारिक प्रक्रिया हाल ही में शुरू हुई है। इनमें से अधिकांश कैदियों ने कुछ महीने पहले अपनी सजा पूरी कर ली है, लेकिन कोरोना स्थिति और लॉक डाउन के कारण वापस नहीं लौट सके। सुधारात्मक सेवा विभाग के सूत्रों के अनुसार, राज्य भर में विभिन्न जेलों में लगभग 950 बांग्लादेशी कैदी हैं। उनमें से लगभग 650 ने पहले ही अपनी जेल की शर्तें पूरी कर ली हैं। पिछले कुछ महीनों में कोरोना से पहले ही तीन कैदियों की मौत हो चुकी हैं। इस साल मार्च में महामारी शुरू होने के बाद विभाग ने जेलों में भीड़ को रोकने के प्रयासों के तहत कैदियों की जमानत और पैरोल की सुविधा शुरू कर दी थी। राज्य की विभिन्न अदालतों ने 3000 से अधिक जेल कैदियों को जमानत या पैरोल दी है। मार्च के अंतिम सप्ताह से पैरोल और जमानत के लिए योग्य कैदियों की सूची तैयार की थी और उन्हें अदालतों में पेश किया था। पश्चिम बंगाल में लगभग 60 जेलो में 25,000 कैदी हैं। करीब 7,000 कैदी सजायाफ्ता हैं और बाकी अंडर ट्रायल हैं।

(हि. स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *