Bengal Coal Smuggling News Update : बंगाल में सीबीआई व ईडी की संयुक्त टीम का 14 ठिकानों पर छापा

कोलकाता, 26 फरवरी। पश्चिम बंगाल और झारखंड के कोयलांचल क्षेत्रों से बड़े पैमाने पर कोयले का गैरकानूनी तरीके से खनन और तस्करी के मामले की जांच कर रही केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की संयुक्त टीम ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के 14 ठिकानों पर छापेमारी शुरू की है।

जांच एजेंसियों के सूत्रों ने बताया है कि राजधानी कोलकाता के साथ-साथ दुर्गापुर और आसनसोल के ठिकानों पर तलाशी अभियान चल रहे हैं। कोलकाता के बांसड्रोनी में एक कारोबारी के ठिकाने पर तलाशी अभियान चलाए जा रहे हैं। कारोबारी का नाम रणधीर बरनवाल है। उसके ऑफिस में सीबीआई और ईडी के अधिकारी पहुंचे हैं।

कोलकाता के डलहौसी इलाके में भी एक चार्टर्ड फर्म के दफ्तर में जांच एजेंसियों के अधिकारियों ने छापा मारा है और तलाशी अभियान चला रहे हैं। सीबीआई के सूत्रों ने बताया है कि व्यवसायी रणधीर बरनवाल ने कोयला तस्करी से होने वाली ब्लैकमनी को बाजार में रेगुलेट कर सफेद करने में बड़ी भूमिका निभाई है। यह भी पता चला है कि कई बड़े नेताओं और पुलिस अधिकारियों के ब्लैकमनी भी इस कारोबारी के पास जमा रहते थे। कोयला तस्करी के सरगना अनूप मांझी उर्फ लाला के पास से बरामद दस्तावेजों की जांच के बाद बरनवाल के बारे में जानकारी मिली थी।

कोयला तस्करी के कारोबार में शामिल अनूप के सहयोगी जयदेव मंडल का बरनवाल के साथ संपर्क था। इन जगहों के साथ-साथ कांकुरगाछी, मानिकतला, आसनसोल और दुर्गापुर में भी अलग-अलग ठिकानों पर जांच पड़ताल चल रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि इस गैरकानूनी कारोबार में सीबीआई की टीम ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा बनर्जी से भी पूछताछ की है। जांच अधिकारियों का दावा है कि कोयला तस्करी से होने वाली आय का बड़ा हिस्सा रूजीरा के बैंकॉक और लंदन स्थित खाते में ट्रांसफर किए गए हैं।

इस मामले में सीबीआई ने अनूप मांझी की 70 चल-अचल संपत्तियों की जानकारी आसनसोल कोर्ट को दी है जिन्हें कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू की गई है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *