Bengal Election Update : पश्चिम बंगाल में बोले हेमंत सोरेन, भाजपा देश को कर रही खोखला, झारखंड की तरह यहां भी हराएंगे

Insight Online News

मान बाजार बंदवान तालडंगरा। मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने बुधवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर चल रहे प्रचार में तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशियों के समर्थन में तीन जनसभाएं कीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में अंतर है। यह पार्टी जो कहती है वह करती नहीं है और जो नहीं कहती है वही काम करती है। भाजपा समाज को जाति, धर्म के नाम पर लड़वाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार व्यापारी के रोल में आ चुकी है। देश की महत्वपूर्ण संपत्तियों को बेच रही है। एयरपोर्ट, बंदरगाह, स्टेशन, ट्रेन और कई बड़ी और नामी-गिरामी सरकारी कंपनियों को बेचा जा रहा है। केंद्र सरकार अब देश के संविधान को भी बदलने का प्रयास कर रही है। जिस संविधान को बाबा साहब अंबेडकर ने बनाया था, उसके साथ छेड़छाड़ की जा रही है। यह सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। आदिवासियों, दलितों और अल्पसंख्यकों, के हक और अधिकार छीनने की नापाक कोशिश हो रही है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ भाजपा जैसी सामंतवादी पार्टी है, तो दूसरी तरफ आदिवासियों, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के हक और अधिकार की लड़ाई लड़ने वाली तृणमूल कांग्रेस है। अब आपको तय करना है कि किसे अपना मत देंगे। उन्होंने लोगों से तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशियों को वोट देकर ममता दीदी के हाथों को मजबूत करने की अपील की। उन्होंने कहा कि वे कहा कि झारखंड की तरह पश्चिम बंगाल में भी भाजपा को हरायेंगे।

हेमंत सोरेन ने कहा कि भाजपा सिर्फ और सिर्फ सत्ता में आने के लिए बेचैन रहती है। इसके लिए पैसे से लेकर हर तिकड़म अपनाती है। लेकिन, झारखंड में जनता के सहयोग से हमने भाजपा का सफाया कर दिया और अब पश्चिम बंगाल के मतदाता भी यही करेंगे। सोरेन ने मान बाजार से तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी संध्या रानी टुडू के समर्थन में बामणी चरकी पत्थर मैदान की जनसभा में कहा कि पश्चिम बंगाल चुनाव काफी ऐतिहासिक और निर्णायक होने वाला है। यह न सिर्फ आपका बल्कि आने वाली पीढ़ी के भविष्य को तय करेगा। बंदवान और तालडंगरा में भी टीएमसी के समर्थन में सीएम सोरेन ने हुंकार भरी।

  • साथ मिलकर लड़ेंगे लड़ाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर मोर्चे पर तृणमूल कांग्रेस के साथ झारखंड मुक्ति मोर्चा खड़ा है। अब मां, माटी और मानुष के साथ जल, जंगल और जमीन की लड़ाई लड़ने वाले सामंतवादी ताकतों का सामना करेंगे। उन्होंने कहा कि ममता दीदी की पार्टी की विचारधारा झामुमो से मेल खाती है। पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती क्षेत्रों में आदिवासी, दलित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक काफी हैं। झामुमो ने पूर्व में चुनाव भी लड़ा है। इस बार का चुनाव अलग है। भाजपा को हराने के लिए झामुमो ने सुप्रीमो गुरू जी के निर्णय के तहत झामुमो ने तृणमूल का समर्थन किया है।

  • किसानों की आय तो नहीं कर्ज दोगुना

मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि कानून के विरोध में किसान पिछले कई महीने से आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी मांगों को लगातार अनसुनी कर रही है। यह सरकार किसानों की आय को दोगुना करने की बात करती है, लेकिन किसानों की आय दोगुनी तो नहीं हुई पर उनका कर्ज दोगुना जरूर हो गया। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों को उद्योगपतियों के इशारे पर लाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *