Bengal Election Update : ममता ने फिर अलापा हिंदू राग, कहा – मैं हूं ब्राह्मण की बेटी

कोलकाता,। मुस्लिम तुष्टीकरण के आरोपों में घिरे रहने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अब हिंदू मतदाताओं को हर हाल में अपने पाले में करने में जुटी हैं। शुक्रवार को एक बार फिर उन्होंने जनसभा से हिंदुत्व का राग अलापते हुए कहा है कि वह हिंदू ब्राह्मण की बेटी हैं।

शुक्रवार को पश्चिम मेदिनीपुर के चंद्रकोणा में ममता बनर्जी ने एक चुनावी सभा को संबोधित किया। अमूमन जनसभा मंच से चंडी पाठ और हिंदुत्व को लेकर बयान देने वाली ममता ने कहा कि हमें हिंदू धर्म सीखा रहे हैं। मैं भी हिंदू ब्राह्मण की बेटी हूं। आप से ज्यादा हिंदू धर्म जानती हूं।

मेरे लिए सभी समान हैं। सभी जाति और धर्म के लोग समान हैं। उन्होंने कहा, “मैं लोगों में भेदभाव नहीं करती हूं। मुझे मेरे मां-पिता ने भेदभाव करना नहीं सिखाया है। मेरे घर में जो बाउरी महिला काम करती हैं, चार महिलाएं काम करती थीं। सभी को नौकरी दे दी हैं।”

भाजपा को बताया डकैतों का सरदार

ममता बनर्जी ने कहा कि वे सभी को चोर कह रहे हैं, लेकिन खुद डकैतों के सरदार हैं। भाजपा क्या कर रही है ?, नोटबंदी का पैसा कहां गया?, बैंकों का पैसा कहां गया?। सब कुछ बिक्री कर रहे हैं और अब बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ बनाने की बात कर रहे हैं। ‘सोनार बांग्ला’ भी नहीं बोल पाते हैं। ‘सोनार बांग्ला’ को ‘शोनार बांग्ला’ बोलते हैं। किसी का बगैर नाम लिए ममता ने कहा कि वे रवींद्रनाथ टैगोर की जन्म स्थली जोड़ासांकू को बताते हैं, विद्यासागर की मूर्ति तोड़ते हैं, गुजरात के दंगा के नायक हैं यदि दंगा करेंगे, मुझे पंगा लेने का साहस है।

प्रधानमंत्री की दाढ़ी पर भी की टिप्पणी
उन्होंने कहा कि केंद्र के पास कुछ भी देने की क्षमता नहीं है और पैसा देने की बात कर रहे हैं। सब कुछ ले ले रहे हैं। दाढ़ी रहने पर सभी रवींद्रनाथ नहीं हो जाते हैं। दाढ़ी रखने का स्टाइल रामकृष्ण परमहंस का अलग है। सभी का स्टाइल अलग-अलग है। उन्होंने कहा, “आपके बीच कुछ गद्दार आए हैं।

वे सीपीएम कांग्रेस के साथ हाथ मिलकर अल्पसंख्यकों को वोट काटने की बात कर रहे हैं। भाजपा से पैसा लेकर अल्पसंख्यकों वोट काटेंगे। उन्होंने सवाल उठाया कि वोट काटने के लिए कितना पैसा लिए हैं? ” उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का एक ही काम है किसी भी तरह अस्थिरता पैदा करना। हम ऐसा होने नहीं देंगे।

(हि. स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *