Bengal Election Update : बंगाल में आठवें चरण में छिटपुट हिंसा, मोदी ने की कोविड प्रोटोकॉल पालन करने की अपील

कोलकाता 29 अप्रैल : पश्चिम बंगाल विधानसभा में गुरुवार सुबह जैसे ही आठवें एवं अंतिम चरण का मतदान शुरू हुआ, वैसे ही शहर में बमबारी और हिंसक घटनाओं की रिपोर्ट भी सामने आयी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बंगाल के लोगों से कोविड-19 प्रोटोकाॅल को पालन करने की अपील करते हुए लोकतंत्र के इस त्योहार को समृद्ध करने के लिए अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने का आह्वान किया।

राज्य में अंतिम चरण के मतदान में पहले ढाई घंटों में 16 फीसदी से अधिक मतदान हुआ। राज्य में कोरोना की दूसरी लहर के बीच आठवें/अंतिम चरण में 35 सीटों के लिए आज सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। जिसने अपने संवैधानिक अधिकारों का प्रयोग करने के लिए मतदाताओं के मन में आत्मविश्वास जगाया है।

श्री मोदी ने ट्विटर पर कहा, “आज पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के अंतिम चरण का मतदान है। मैं लोगों से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वोट डालने की अपील करता कर रहा हूँ। मैं लोगों से अपने वोट डालने और लोकतंत्र के त्योहार को समृद्ध करने का आह्वान करता हूँ।”

चुनाव आयोग ने कहा कि महामारी में कोविड प्रोटोकॉल को बनाए रखने के साथ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 35 सीटों के लिए पहले ढाई घंटे में सुबह साढ़े नौ बजे तक 16 फीसदी से अधिक मतदान हुआ है।

बंगाल में अंतिम चरण में चार जिलों मालदा, कोलकाता उत्तरी, मुर्शिदाबाद और वीरभूम की 35 विधानसभा सीटों के लिए मतदान शुरू हुआ। जिनमें से वीरभूम और मुर्शिदाबाद के 11-11, कोलकाता उत्तर के सात तथा मालदा के छह विधानसभा सीटों में मतदान हो रहा है। राज्य में अंतिम चरण में 35 महिला प्रत्याशियों समेत कुल 283 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला दांव पर होगा।

इन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 53,55,835 पुरुष, 41,21,735 महिला मतदाताओं और 158 उभयलिंगी मतदाताओं समेत 84,77,728 मतदाता करेंगे। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 43,55,835 है। मतदान के लिए कुल 11,860 मतदान स्थल बनाये गये हैं।

इसबीच एक रिपोर्ट में सामने आया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार तारकेश्वर साहा की कार पर नानूर, बीरभूम, में हमला हुआ है। वहीं उत्तरी कोलकाता में आज महाजाति सदन सभागार के पास देसी बम फेंका गया। चुनाव आयोग ने घटना का विवरण मांगा है।

तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार नैना बनर्जी ने आरोप लगाया कि उन्हें शहर के बीचोंबीच चौरंगी के मेट्रोपॉलिटन स्कूल में एक मतदान केन्द्र में प्रवेश करने से रोका गया। इसबीच शहर के एंटली से बमबारी की रिपोर्ट भी सामने आयी हैं, जहाँ केंद्रीय बल ने मतदाताओं में विश्वास जगाने के लिए एक रूट मार्च शुरू किया था। बम हमलों में किसी के हताहत होने की कोई रिपोर्ट नहीं है।

कोलकाता की थोक बाजार के जोरशांको विधानसभा सीट के अंतर्गत रबींद्र नगर सरानी से भी बमबारी की रिपोर्ट भी सामने आईं हैं। अभी तक हालांकि मतदान केन्द्रों के भीतर किसी भी तरह की कोई हिंसा और अप्रिय घटना की रिपोर्ट नहीं मिली है।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *