Bengal News Update : थमी नहीं चुनावी हिंसा, पटाशपुर व खेजूरी में रातभर बमबारी, थाना प्रभारी की हालत गंभीर

कोलकाता, 27 मार्च । चुनावी हिंसा के लिए कुख्यात पश्चिम बंगाल में शांतिपूर्वक मतदान संपन्न कराने के आयोग के दावे धरे रह गए। चुनाव शुरू होने के साथ ही राज्य भर से हिंसा की खबरें आने लगी हैं।

पटाशपुर इलाके में रातभर बमबारी हुई जिसमें थाना प्रभारी भी गंभीर तौर पर घायल हुए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमले का आरोप सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के लोगों पर लगा है। जिला प्रशासन सूत्रों ने पुष्टि की है कि सातशतमाल इलाके में रात भर बमबारी हुई। तृणमूल भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच रुक-रुककर हिंसा हो रही थी जिसे रोकने पहुंचे पटाशपुर थाने के प्रभारी दीपक कुमार चक्रवर्ती पर भी हमले किए गए।

उनके साथ पुलिस का एक और कर्मी घायल हुआ है। मतदान शुरू होने से पहले की रात 1:30 बजे घटी इस घटना के बाद गंभीर हालत में दोनों पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा है।

हालांकि आयोग ने एक दिन पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि जिन क्षेत्रों में हिंसा होगी वहां की जवाबदेही स्थानीय थाना प्रभारी और पुलिस प्रशासन की होनी है। इसी तरह से दक्षिण कांथी के सीरिया इलाके में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को मारने-पीटने का आरोप सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर लगा है। दो भाजपा कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हुए हैं। भागने के दौरान एक तृणमूल कार्यकर्ता को भाजपा कार्यकर्ताओं ने पकड़ लिया था जिसे मारा-पीटा गया है।

खेजूरी के एक नंबर ब्लॉक वीरबंद इलाके में तृणमूल के पोलिंग एजेंट को कथित तौर पर मतदान केंद्र से बाहर निकाला गया है। खेजूरी के ही बटतला इलाके में रातभर बमबारी हुई है जिसमें भाजपा के कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। यहां तक कि मतदान से पहले तक बमबारी होती रही। स्थानीय पुलिस प्रशासन पर सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगे हैं। चुनाव आयोग को इस बारे में शिकायत दर्ज कराई गई है।

संयुक्त मोर्चा उम्मीदवार के साथ तृणमूल एजेंट की बहस
सालबनी के कई मतदान केंद्रों पर माकपा-कांग्रेस और आईएसएफ के गठबंधन ‘संयुक्त मोर्चा’ के पोलिंग एजेंट को नहीं बैठने दिया जा रहा है। सालबनी से संयुक्त मोर्चा उम्मीदवार सुशान्त घोष ने आरोप लगाया है कि उनके पोलिंग एजेंट को मतदान केंद्र के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा। उसे लगातार धमकियां दी जा रही हैं। मतदान शुरू होने से पहले ही सुइमादह प्राथमिक स्कूल के मतदान केंद्र पर तृणमूल पोलिंग एजेंट के साथ उनकी बहस भी हुई है।

केशियारी विधानसभा क्षेत्र के बेगमपुर इलाके में भारतीय जनता पार्टी के पोलिंग एजेंट को मारा-पीटा गया है। उसका सिर फट गया है। आरोप सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर लगा है। इसी तरह पुरुलिया शहर में भी भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक टकराव हुआ है जिसमें सत्तारूढ़ पार्टी के कई कार्यकर्ता घायल बताए जा रहे हैं।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *