Bengal Teacher Recruitment Scam : अर्पिता मुखर्जी के घर से मिला 20 करोड़ कैश, 26 घंटे की पूछताछ के बाद मंत्री पार्थ चटर्जी गिरफ्तार

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में ईडी ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने राज्य के उद्योग व संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया है। भर्ती घोटाले में कई घंटों तक चली छापेमारी और 26 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ने पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया है। पार्थ चटर्जी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी हैं।

समाचार एजेंसी ने बताया कि ईडी ने पार्थ की करीबी अर्पिता मुखर्जी को हिरासत में लिया है। पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ को उनके कोलकाता स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान पार्थ चटर्जी की तबीयत बिगड़ गई थी, इसलिए उन्हें मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

गौरतलब है कि ईडी की टीम ने राज्य में कई जगहों पर शुक्रवार सुबह छापेमारी की थी, ये छापेमारी शनिवार को भी जारी रही। राज्य के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी और शिक्षा राज्यमंत्री परेश चंद्र अधिकारी के ठिकानों पर भी छापेमारी की गई थी। ईडी ने पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के आवास से 20 करोड़ रुपये कैश बरामद किया है।

ईडी की छापेमारी के बाद भाजपा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लगातार हमलावर है। भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी और प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने टीएमसी पर निशाना साधा है। अधिकारी ने कहा कि अर्पिता मुखर्जी के आवास से 20 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। अर्पिता शिक्षा मंत्री रहे पार्थ चटर्जी की करीबी हैं। ये भी पता चला है कि कैश शिक्षा मंत्रालय के लिफाफों के अंदर मिला है। लिफाफों पर राष्ट्रीय चिन्ह छपा हुआ है। अधिकारी ने कहा कि ये तो बस ट्रेलर है। पिक्चर अभी बाकी है। वहीं, मजूमदार ने कहा कि ये ममता बनर्जी का बंगाल माडल है, जहां भर्ती घोटालों में अवैध तरीके से चोरी की गई नकदी अब सामने आ रही है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.