Bengal Update : ममता दीदी की पार्टी में भगदड़, शुभेंदु सहित 10 विधायक, 1 सांसद व 1 दर्जन पार्षद भाजपा में शामिल

खड़गपुर : तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए आखिरकार शुभेंदु अधिकारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गये। मेदिनीपुर कॉलेज ग्राउंड में आयोजित गृह मंत्री अमित शाह की रैली में शुभेंदु अधिकारी पहुंचे और भाजपा का झंडा थामा। कुल 10 विधायक व एक सांसद ने भाजपा में योगदान दिया। रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि तृणमूल, कम्युनिस्ट पार्टी और कांग्रेस के अच्छे लोग भाजपा में शामिल हो रहे हैं। चुनाव आते-आते ममता दीदी अकेली रह जायेंगी। अमित शाह ने एक बार फिर हुंकार भरी कि बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा की ही सरकार बनेगी। ममता बनर्जी को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा पर वह दलबदल कराने का आरोप लगाती हैं, लेकिन तृणमूल तो खुद कांग्रेस से टूटकर बनी थी। भाजपा में नेताओं के शामिल होने के सिलसिले पर श्री शाह ने कहा कि जो हालात हैं, उससे कहा जा सकता है कि चुनाव आते-आते ममता अकेली ही रह जायेंगी। ऐसी सुनामी आयेगी, जिसकी कल्पना भी उन्होंने नहीं की होगी। तृणमूल सरकार पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि मां, माटी, मानुष के नारे के साथ तृणमूल का जो सफर हुआ था, वह तोलाबाजी, तुष्टीकरण और भाई-भतीजावाद में बदल गया। मुख्यमंत्री बंगाल की 10 करोड़ जनता के भविष्य के बारे में नहीं सोचतीं। वह सोचतीं हैं, तो केवल यह कि उनके भतीजे को मुख्यमंत्री कैसे बनाया जाये। श्री शाह ने एक बार फिर केंद्रीय योजनाओं को राज्य में लागू नहीं करने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि देश भर के किसानों को सालाना छह हजार रुपये मिलते हैं, लेकिन बंगाल के किसान इससे वंचित है। आयुष्मान भारत योजना भी राज्य में लागू नहीं की गयी। अम्फान की सहायता राशि में घोटाले के अलावा कोरोना के कारण केंद्र द्वारा भेजे गये राशन में भी घोटाला किया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्टÑीय अध्यक्ष के काफिले पर हमला किया गया। लेकिन, भाजपा के कार्यकर्ता झुकने वाले नहीं हैं। वह बड़ी ताकत के साथ ममता दीदी के हमलों का सामना करेंगे। श्री शाह ने कहा कि बंगाल की जनता ने तीन दशक तक लेफ्ट को मौका दिया, 10 वर्षों तक ममता बनर्जी को मौका दिया। भाजपा को अगर एक बार 5 साल के लिए मौका मिला, तो बंगाल को सोनार बांग्ला बना देंगे। अमित शाह की रैली में भाजपा में शामिल होने वालों में शुभेंदु अधिकारी के अलावा बदर्वान पूर्व के सांसद सुनील मंडल भी शामिल थे। अन्य विधायकों में हल्दिया की विधायक तापसी मंडल, तमलुक के विधायक अशोक डिंडा, पुरुलिया के विधायक सुदीप मुखर्जी, बर्दवान के सैकत पांजा, बैरकपुर के शीलभद्र दत्त, गाजोल की दीपाली विश्वास, नागरकाटा के सूकरा मुंडा, कालना के विश्वजीत कुंडू और कांथी उत्तर की बनश्री माइती शामिल हैं। इनके अलावा पूर्व सांसद दशरत तिर्की भी भाजपा में शामिल हुए। पूर्व मंत्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भी भाजपा का दामन थाम लिया।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *