Bengal Update : बंगाल सफर से पहले अमित शाह ने बनाई अचूक रणनीति

  • बंगाल के पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट पर की चर्चा, रथ यात्रा के जरिए भाजपा दिखाएगी ताकत

कोलकाता, 21 जनवरी। पश्चिम बंगाल में 30 जनवरी को दो दिवसीय दौरे पर आने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह ने दिल्ली में अहम रणनीतिक बैठक की है। इसमें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ सांगठनिक महासचिव बीएल संतोष और बंगाल के प्रभारी तथा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जब से नंदीग्राम में चुनाव लड़ने की घोषणा की है। इसके बाद से राज्य में माहौल और बदला हुआ है। इसके अलावा उत्तर बंगाल के पहाड़ी क्षेत्रों पर पृथक गोरखालैंड का मुद्दा भी गरमाता जा रहा है। साथ ही राजधानी कोलकाता से सटे उत्तर 24 परगना और नदिया जिले में रहने वाले बांग्लादेश के शरणार्थी मतुआ समुदाय को स्थायी नागरिकता देने को लेकर भी सरगर्मी तेज हैं। ममता बनर्जी के सांसदों, विधायकों और मंत्रियों के उनका साथ छोड़कर भाजपा में शामिल होने से राज्य भर में मतदाताओं का मनोभाव बदला हुआ है और भाजपा के पक्ष में माहौल बन रहा है। ऐसे में बंगाल में क्या कदम उठाए जाएं और किस तरह से प्रचार-प्रसार हो कि पार्टी 200 से अधिक सीटें जीत सके, इसी बारे में विस्तार से चर्चा हुई है।

भाजपा सूत्रों ने बताया है कि अमित शाह ने बंगाल के उन सभी केंद्रीय प्रभारियों से रिपोर्ट ली है जिन्हें बंगाल में वास्तविक स्थिति के आकलन के लिए भेजा गया था। इन रिपोर्टों पर भी विस्तार से चर्चा हुई है। सूत्रों ने बताया है कि कोलकाता, उत्तर और दक्षिण 24 परगना में भाजपा की सांगठनिक मजबूती और लोगों के मूड से संबंधित रिपोर्ट केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत ने दी है। इसी तरह से हावड़ा और हुगली की रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सबमिट की है। पूर्व मेदिनीपुर झाड़ग्राम की रिपोर्ट अर्जुन मुंडा ने दी है जबकि हल्दिया से मनसुख मांड्या ने जमीनी स्थिति का आकलन प्रस्तुत किया है। मुर्शिदाबाद और नदिया जिले की रिपोर्ट संजीव बालियान ने दी है जबकि उत्तर बंगाल में लोगों का मूड और भाजपा के संगठन की स्थिति की रिपोर्ट प्रहलाद सिंह पटेल ने नड्डा को जमा दे दी है। बर्दवान और आसनसोल से जमीनी हकीकत की रिपोर्ट नरोत्तम मिश्रा ने जमा कर दी है। इन्हीं रिपोर्टों पर जेपी नड्डा, अमित शाह, बीएल संतोष और कैलाश विजयवर्गीय ने रणनीति बनाई है जिसे बंगाल में लागू किया जाना है।

उल्लेखनीय है कि भाजपा पांच फरवरी से राज्य भर की परिक्रमा करने और व्यापक जनसंपर्क के लिए पांच रथ यात्रा निकालने वाली है जिसे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा हरी झंडी दिखाएंगे। इसके जरिए भाजपा प्रदेश में अपनी ताकत दिखाएगी। इसके पहले 30 जनवरी को दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह आ रहे हैं जो बेहद खास माना जा रहा है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *