Bengal Update : चुनावी हिंसा के मामले में सीबीआई ने दर्ज की दो और प्राथमिकी

कोलकाता, 28 अगस्त । पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा मामले की जांच कर रही केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की टीम ने दो और प्राथमिकी दर्ज की है। जांच एजेंसी के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार देर रात तक दो और प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा मामले में पहले से दर्ज नौ प्राथमिकी के अलावा दो और दर्ज होने के बाद कुल शिकायतों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। इनमें से 10 प्राथमिकी हत्या से संबंधित हैं, जबकि एक मुर्शिदाबाद के नवग्राम में महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला है।

10 मई को नवग्राम थाने में तीन लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज की गई थी। सीबीआई ने इसकी रिपोर्ट जिला पुलिस से ले ली है। हत्या की जो 10 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं, उनमें से तीन नदिया जिले से संबंधित हैं। यहां की कोतवाली, गंगारामपुर और चापड़ा इलाके में चुनाव बाद भाजपा कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार दिया गया था। सीबीआई सूत्रों ने बताया है कि कोतवाली थाना क्षेत्र में पलाश मंडल नाम के भाजपा कार्यकर्ता को 14 जून को घर से घसीट कर मौत के घाट उतारा गया था।

इसके अलावा जब दो मई को चुनाव परिणाम आए थे, उसी दिन उत्तम घोष नाम के भाजपा कार्यकर्ता को उसके घर से निकाल कर मार दिया गया था। बांकुड़ा जिले में भी हत्या के दो मामलों में सीबीआई ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है। गुरुवार से लगातार सीबीआई की टीम जिलों में घूम घूम कर हिंसा पीड़ित लोगों से मिल रही है और उनके परिवार के लोगों का बयान रिकॉर्ड कर रही है। कोलकाता के कांकुरगाछी में अभिजीत सरकार नाम के जिस भाजपा कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी, उसके भाई विश्वजीत सरकार ने सीबीआई को दिए बयान में बताया है कि पुलिस सामने खड़ी थी और उसके सामने ही अभिजीत सरकार की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *