बिहार विधानसभा चुनाव: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास का तीन दिवसीय चुनावी दौरा फंसा विवादों में

Insightonlinenews Team

मोतिहारी। बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक है, ऐसे में सभी पार्टी जोर-शोर से चुनाव प्रचार में लगी है। इसी क्रम में एनडीए-भाजपा के प्रचार के लिए झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास 3 दिवसीय बिहार दौरे पर हैं। शुक्रवार को वो मोतिहारी पहुंचे जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार सहित बिहार सरकार की सराहना की। साथ ही बताया कि चंपारण लालू सरकार में अपहरण उधोग से विख्यात था और लालू यादव ने बिहार को लूट लिया।

रघुवर दास ने जैसे ही लालू प्रसाद द्वारा किये गये घोटालों की चर्चा की, वहीं रघुवर दास के कार्यकाल में झारखंड में हुए कोयला घोटाला और अवैध खनन का मामला पत्रकारों ने उठाया। मामला उठाते हुए जैसे ही पत्रकारों ने सरयू राय के इस दावे को बताया कि रघुवर दास द्वारा किये गये भ्रष्टाचार के अनेक मामले अभी कोयला घोटाला और अवैध खनन घोटाला के साथ-साथ उजागर करने का काम शुरू होगा। यह सुनते ही पूर्व मुख्यमंत्री भड़क उठे और आपे से बाहर हो गये।

जनकार सूत्रों का कहना है कि झारखंड में भाजपा की नईया डूबोने वाले पूर्व मुख्यमंत्री को भाजपा के पक्ष में बिहार के प्रचार में भेजना कितना उचित लगता है?

झारखंड के हाल के चुनाव में भाजपा द्वारा पूर्ण अधिकार प्राप्त पूर्व मुख्यमंत्री की अगुवाई में हुये चुनाव में झारखंड में भाजपा सत्ता से बेदखल हो गई। दबी जुबान में भाजपा के अधिकतर कार्यकर्ता और नेता झारखंड में भाजपा के सत्ता से बेदखल होना का श्रेय पूर्व मुख्यमंत्री के खाते में डालते हैं।

झारखंड में भाजपा को हार का सेहरा पहनाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री के प्रचार का बिहार में कितना प्रभाव होगा यह तो समय ही बतायेगा!

जानकार सूत्र कहते हैं कि भाजपा और एनडीए के प्रति आने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में भारी रूझान है और उस रूझान का सीटों में तब्दील होना निश्चित माना जा रहा है।

यह भी पढें: Bihar Assembly Elections 2020 : नीतीश के नेतृत्व में एनडीए सरकार का बनना तय !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *