Bihar becomes the leading state in implementing e-Vidhan : देश का पहला पेपरलेस विधान परिषद बना बिहार, ई-विधान की हुई शुरुआत

पटना : विधान परिषद के सदस्यों को जल्द ही कागज के बड़े लिफाफे और उसके भीतर रखे वजनी कागजात को ढोने से आजादी मिल जाएगी। वह सामने रखे कंप्यूटर पर सब कुछ देख सकेंगे। मसलन, उनके सवालों पर संबंधित मंत्री ने क्या जवाब दिया है। सिर्फ जवाब ही नहीं, पूरी विधायी प्रक्रिया की जानकारी उन्हें अपने कंप्यूटर पर मिल जाएगी। हालांकि, यह सब होने में अभी थोड़ा वक्त लगेगा, लेकिन गुरुवार को परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह ने जैसे ही ई-विधान अप्लीकेशन (नेवा) का उद्घाटन किया, इसकी शुरुआत हो गई। इस सेवा के लिहाज से यह देश का पहला सदन बन गया।

कार्यकारी सभापति ने कहा कि आधुनिक सुविधाओं के सहारे सदस्य अपने संसदीय दायित्वों का बेहतर निर्वहन कर सकेंगे। बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मार्गदर्शन में यह संभव हो सका। कार्यक्रम को केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने भी वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया। इस सुविधा के लिए केंद्र और राज्य सरकार 60:40 के अनुपात में खर्च कर रही हैं।

उप मुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि बिहार ही नहीं, देश के लिए यह गौरव की बात है। बिहार विधान परिषद का अनुकरण देश के दूसरे सदन में भी होगा। कार्यक्रम को जदयू के रामवचन राय, राजद के रामबली सिंह, कांग्रेस के प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी संबोधित किया। वामदलों की ओर से केदार नाथ पांडेय ने नई व्यवस्था का स्वागत किया। सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय झा ने कहा कि सदन में कंप्यूटर-टैब की काफी उपयोगिता और इसके उपयोग की असीम संभावनाएं हैं।

उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि तकनीकी रूप से सदन को सशक्त बनाए जाने के बाद सदस्यों को अपने कार्य में बहुत सुविधा हो गई है। पीएचईडी मंत्री रामप्रीत पासवान ने कहा कि नेशनल ई-विधान अप्लीकेशन का सदन में बहुत उपयोग होगा, क्योंकि दस्तावेजों को सदन पटल पर रखने की सुविधा भी इसमें उपलब्ध है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि आज बिहार की 14 करोड़ जनता का गौरव बढ़ गया है और पूरी दुनिया में बिहार की सुंदर छवि में बढ़ोतरी हुई है। इस मौके पर सदन वेश्म में डा. कुमुद वर्मा, निवेदिता सिंह, संजय पासवान, संजय सिंह, राजेंद्र प्रसाद गुप्ता, मदन मोहन झा, प्रो. संजय कुमार सिंह सहित कई विधान पार्षद और विधान परिषद के सचिव विनोद कुमार उपस्थित थे।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *