Bihar Election: एक जैसी है कांग्रेस और पाकिस्तान की भाषा, चीन की भाषा बोलते हैं राहुल : अनुराग ठाकुर

  • सेना के ऊपर सवाल उठाया था, अब उनका चेहरा बेनकाब हो गया है
  • पुलवामा हमला को षड्यंत्र बताने वाले मां-बेटे को देश से माफी मांगनी चाहिए
  • यह महागठबंधन नहीं, ठगबंधन है, ऐसा कोई नहीं बचा, जिसे लालू ने ठगा नहीं

पटना, 31 अक्टूबर। रक्तरंजित राजनीति करने वाली कांग्रेस तथा गुंडाराज के लिए चर्चित राजद समेत कई अन्य पार्टियां महागठबंधन बनाकर बिहार की जनता को बरगला रही हैं। यह महागठबंधन नहीं, ठगबंधन है। ऐसा कोई बचा नहीं जिसे लालू यादव ने ठगा नहीं। यह बातें केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शुक्रवार की रात बेगूसराय में एनडीए द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहीं।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि अब बिहार भय और भ्रष्टाचार मुक्त हो गया, जिसके कारण सत्ता में वापसी के लिए यह लोग अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। इस गठबंधन में ऐसे लोग हैं जो सेना पर भी प्रश्नचिन्ह उठाते हैं। राहुल गांधी ने पुलवामा हमला को षड्यंत्र करार देते हुए सेना के ऊपर प्रश्नचिन्ह उठाया था। लेकिन उनका चेहरा बेनकाब हो गया है। मां-बेटे को देश से माफी मांगनी चाहिए। देश के लिए हम इकट्ठे खड़े हैं, लेकिन कांग्रेस की भाषा कुछ अलग होती है। सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान के संसद में बवाल मचा हुआ है, लेकिन वे इस पर कुछ नहीं बोलते हैं। बाटला हाउस में इंस्पेक्टर की शहादत पर उनके घर नहीं गए, लेकिन घर के अंदर जाकर फूट-फूटकर रोए थे। पाकिस्तान और कांग्रेस की भाषा एक जैसी है।

चीन के बॉर्डर पर जब हमारे सैनिकों की शहादत हुई तब भी राहुल गांधी चीन की भाषा बोलते रहे। चाइना का सूप पीते हैं, लेकिन भारत की बात नहीं करते। 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस एंड ऑर्गेनाइजेशन ने मोदी जी को हराने के लिए सारी ताकत लगा दी, लेकिन मोदी जी और अधिक मजबूती से सत्ता में लौटे।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोकप्रिय नेता हैं, इन दोनों के नेतृत्व में देश और बिहार प्रगति के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण दुनिया के तमाम देश तबाह हो गए, अधिक आय वाले और अधिक सुविधा वाले देश भी बेहाल रहे। लेकिन भारत ने नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना से लड़ाई लड़ी, नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार भी मजबूती से लड़ा।

आपदा के समय अन्न और धन की कोई कमी नहीं हुई। टेस्टिंग लैब, टेस्ट और पीपीई निर्माण की क्षमता बताता है कि भारत आत्मनिर्भरता की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। बिहार में स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि डबल इंजन ने विकास की गाड़ी को कितनी तेजी से आगे बढ़ाया। कांग्रेस के समय में मनरेगा का बजट 30 हजार करोड़ था, एनडीए के समय में बढ़कर 66 हजार करोड़ हो गया। नीतीश कुमार ने बिहार को गुंडाराज से मुक्ति देकर भयमुक्त किया। कांग्रेस और राजद के डर से बिहार से उद्योगपति पलायन कर गए, लेकिन हमने डर भगाया। कम्युनिस्ट की यूनियन बाजी और राजद के भय एवं भ्रष्टाचार को समाप्त किया गया। बिहार के लीची और मखाना की ग्लोबल ब्रांडिंग हो रही है, रोजगार के अवसर बढ़ाए जा रहे हैं।

डिफेंस सेक्टर, स्पेस सेक्टर में भी भारत मजबूत हुआ है। आत्मनिर्भर भारत के साथ आत्मनिर्भर बिहार बन रहा है। बिहार में आईटी का हब बनेगा, इससे लाखों लोगों को रोजगार मिलेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्र हित में लिए गए निर्णय का सभी वर्गों ने जोरदार स्वागत किया। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और जनता की ताकत इसमें बड़ी होती है। जनता के हर सुख सुविधा के लिए सरकार तत्पर है।

उन्होंने कहा कि खेल के विकास के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं, हमारा प्रयास है कि हर जिला में क्रिकेट की एकेडमी बने, यह बिहार का अधिकार है। बिहार के विकास के लिए एनडीए पूरी तरह से एकजुट है और पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी। प्रेस वार्ता का संचालन भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय मंत्री विधान पार्षद रजनीश कुमार ने किया। इस मौके पर एनडीए गठबंधन के चारों जिलाध्यक्ष समेत बड़ी संख्या में गठबंधन के प्रमुख नेता उपस्थित थे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *