Bihar Election : चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए आई आयोग की टीम को राजनीतिक दलों ने दिए सुझाव

पटना 30 सितंबर : बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए आई चुनाव आयोग की टीम को राजनीतिक दलों की ओर से निष्पक्ष एवं भयमुक्त मतदान कराने और प्रचार कार्यों से जुड़ी परेशानियों के संबंध में कई सुझाव दिए गए।
मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा के नेतृत्व में आई आयोग की टीम से बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जनता दल यूनाइटेड (जदयू), राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) समेत अन्य दलों के शिष्टमंडल ने मुलाकात कर राज्य में निष्पक्ष और भयमुक्त चुनाव कराने तथा अन्य परेशानियों को दूर करने के संबंध में सुझाव दिए।
जदयू की ओर से कहा गया कि चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के अनुसार इस समय जनसंपर्क के लिए पांच लोग ही जा सकते हैं लेकिन इस दौरान भीड़ बढ़ने पर दिक्कत होगी और राजनीतिक दलों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। इसी तरह 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को बैलेट पेपर के लिए फॉर्म-12 (डी) भरना है, जिसमें उन्हें दिक्कत होगी इसलिए यह फॉर्म खुद आयोग भरवाए। इसी तरह मतदाता तक वोटर पर्ची पहुंचाने की भी जिम्मेवारी आयोग ही ले।
भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा से मिला और एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि पिछले चुनावों के दौरान यह शिकायत मिली कि नदी मार्ग से काफी पैसे एवं अन्य आपत्तिजनक सामग्री चुनाव प्रभावित करने की नीयत से मतदाताओं के बीच पहुंचाया जाता है। चुनाव के दौरान नदी वाले इलाकों में नाव की सघन जांच की जाए एवं मतदान के दो दिन पूर्व से नाव के परिचालन पर रोक लगाई जाए।
शिवा सूरज
(वार्ता)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *