Bihar News Update : बिहार में 20 हजार करोड़ रुपये के शराब का काला कारोबार:तेजस्वी यादव

पटना, 11 मार्च ।बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में 20 हजार करोड़ का शराब का काला कारोबार है। इससे ज्यादा मुनाफे का कोई कारोबार बिहार में नहीं है।प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार शराब के असली माफिया है।

पार्टी कार्यालय में आज आयोजित प्रेसवार्ता में तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार सरकार के मंत्री जिस स्कूल के संस्थापक हैं, वहां भारी मात्रा में शराब मिली है। लेकिन सीएम अनजान बने बैठे हैं। सरकार उक्त मंत्री को बर्खास्त करे। तेजस्वी यादव ने कहा कि एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि बिहार में शराबबंदी के बाद 50 लाख लीटर से अधिक शराब आ चुकी है और पुलिस बता रही है कि 9 लाख लीटर शराब बरामद की गई है।जदयू के कई विधायक शराब के नशे में ठुमके लगाते दिख चुके हैं, लेकिन अब तक किसी पर कार्रवाई नहीं हुई। नीतीश कुमार सरकार चला रहे हैं और उन्हें इन सब बातों की जानकारी ही नहीं है। ऐसा लाचार मुख्यमंत्री देशभर में नहीं।

तेजस्वी ने कहा कि सबसे ज्यादा कमजोर और बेबस मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं।इतने प्रमाण के बावजूद मंत्री पर किसी तरह की कार्यवाही नहीं हो रही, जबकि गृह विभाग मुख्यमंत्री के पास है। शराब के मामले में जिन अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो रही है, वह भी वंचित समाज से आते हैं।बिहार में मेवालाल चौधरी, अशोक चौधरी, रामसूरत राय से जुड़े ऐसे कई मामले हैं, जिनके बारे में नीतीश कुमार की जानकारी नहीं रही।

शराब मामले में कार्रवाई सिर्फ गरीबों पर

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शराब मामले में बड़े लोगों पर कार्रवाई नहीं हो रही है। सिर्फ गरीबों पर कार्रवाई हो रही है। शराब के मामले में सबसे ज्यादा दलित और अतिपिछड़े जेल में हैं। बिहार सरकार में 64 प्रतिशत मंत्री दागी हैं। इनमें से कई पर बलात्कार, मर्डर और अपहरण के भी मामले दर्ज हैं।

ममता पर हुए कथित हमले की तेजस्वी ने की निंदा

चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है भाजपा पश्चिम बंगाल में इसी महीने पहले चरण का चुनाव होना है।भाजपा ने यहां अपनी सरकार बनाने के पूरी ताकत झोंक दी है। सत्तारूढ़ टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी भी बखूबी काउंटर कर रही हैं। इसी बीच ममता बुधवार को नंदीग्राम में प्रचार के दौरान घायल हो गई हैं। इसके लिए उन्होंने भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *