Bihar news : आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की क्या मुश्किलें बढ़ेंगी ?

Insightonlinenews Team

बिहार में विधानसभा चुनाव के पूर्व-आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले में झारखंड हाईकोर्ट से राहत की संभावना छीन नजर आती है। लालू यादव की जमानत याचिका की सुनवाई झारखंड हाईकोट में 9 अक्टूबर को निर्धारित है।

लालू प्रसाद यादव की सुनवाई के पूर्व सीबीआई ने पहली बार सीआरपीसी के प्रावधान के तहत जमानत का विरोध करने संबंधित याचिका दायर की है। जमानत याचिका की 9 अक्टूबर की सुनवाई में सीबीआई अपने वकील द्वारा विरोध करेगी। सीबीआई का कहना है कि लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के जिन केसों में न्यायालय द्वारा सजा सुनाई गई है वो सजा साथ-साथ नहीं जोड़ी जा सकती ऐसा प्रावधान सीआरपीसी में है। सीबीआई का कहना है कि उच्च न्यायालय ने भी सजा के साथ-साथ जोड़ने संबंधी कोई भी आदेश आज तक पारित नहीं किया है।

इसलिए, सीआरपीसी के प्रावधानों के अनुसार एक केस की सजा पूरी होने के बाद दूसरे केस की सजा लागू हो जाती है। सीबीआई का शिकंजा लालू प्रसाद के विरूद्ध कसता जा रहा है। देखना यह है कि उच्च न्यायालय इस दिशा में क्या आदेश पारित करता है|
ज्ञातव्य हो कि लालू प्रसाद यादव को अलग-अलग केसों में 3.5 वर्ष, 5 वर्ष और 14 वर्ष की सजा दी गई है। यदि माननीय उच्च न्यायालय सीबीआई की दलिल को स्वीकार करता है तब लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ेंगी।

बिहार में होने वाले संभावित अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव में लालू यादव शिरकत करने से वंचित रह जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *