Bihar : विधानसभा की सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में रालोसपा

राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने दिया निर्देशः भोला शर्मा

पटना, 24 सितम्बर । विपक्षी गठबंधन में एका नहीं बन पा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पार्टी हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) में जाने के बाद अब राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) भी असंतुष्टी जताते हुए अलग राग अलाप रही है। गुरुवार की शाम पार्टी के प्रवक्ता भोला शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी करने को कहा है। हालांकि, ये स्पष्ट नहीं किया कि उनकी पार्टी विपक्षी गठबंधन का हिस्सा रहेगी या राजग का। इससे पहले आज गुरुवार को ही पार्टी की महत्वपूर्ण बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय, राज्य और जिला कार्यकारिणी ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पर भरोसा जताते हुए गठबंधन को लेकर अंतिम फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया। साथ ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के एकतरफा फैसलों की निंदा की गई। बैठक में आरोप लगाया गया कि सीट बंटवारे पर अब तक एक राय नहीं बन पाई है। कई दौर की बातचीत का अबतक कोई नतीजा नहीं निकला है। राजद सिर्फ एकतरफा फैसला लेता रहा है, जबकि महागठबंधन में नीतियां, नेतृत्व और साझा अभियान होना चाहिए।

अगर हमारी बात नहीं मानी जाती, तो फैसला लेने के लिए स्वतंत्र

एक दिन पहले बुधवार को रालोसपा के प्रधान महासचिव माधव आनंद ने कहा था कि महागठबंधन आईसीयू में चला गया है। इस कारण सही ढंग से बातचीत भी नहीं हो सकता। राजद और कांग्रेस की ओर से कोई पहल नहीं की जा रही है। राजनीति में रास्ते कभी बंद नहीं होते हैं। अगर हमारी बात नहीं मानी जाती, तो फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं।

एनडीए में कुशवाहा को 5 और मांझी को मिल सकती है 3 सीट

सूत्रों की मानें तो अगर उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन छोड़कर एनडीए में आते हैं तो उनकी पार्टी रालोसपा को पांच सीटें मिल सकती है। वहीं,  मांझी की पार्टी हम को तीन सीटें मिलने की संभावना है। भाजपा और जदयू इस बात से सहमत हैं दोनों नेता अपनी पसंद की सीटें ले सकते हैं।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *