बिहार: सिवान में संदिग्ध अवस्था में छह की मौत, पांच गंभीर

  • -जिलाधिकारी ने कहा, जांच के बाद मौत के कारणों का चलेगा पता

सिवान, 23 जनवरी । बिहार में शराबबंदी कानून लागू है, लेकिन इसके बावजूद राज के अंदर धड़ल्ले से अवैध शराब का कारोबार किया जा रहा है। कुछ दिन पूर्व सारण जिले में शराब पीने से हुई दर्जनों लोगों की मौत का मामला अभी सुलझा ही है कि सारण जिले के सीमावर्ती सिवान जिले के लकड़ी नवीगंज थाना क्षेत्र में बीती रात से अबतक संदिग्ध अवस्था में छह लोगों की मौत हो गई है।वहीं पांच लोगों की बीमार होने की सूचना मिल रही है।

स्थानीय लोगों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक जिले में लकड़ी नवीगंज थाना इलाके की भोपतपुर पंचायत के बाला गांव में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत हो गई। जबकि पांच लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। जिनका उपचार सिवान सदर अस्पताल में चल रहा है। हालांकि सिवान के जिलाधिकारी अमित कुमार पाण्डेय का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह कहा जा सकता है कि इन लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है या इसकी वजह कुछ और है।

इस घटना में जिन छह लोगों की मौत हुई है। उसमें नरेश बिन, जनक बिन, राजेश रावत, नारायण शाह (गोपालगंज) , सुरेद्र रावत और धुरेंद्र मांझी का नाम शामिल है। जबकि गंभीर हालत में जिन का इलाज चल रहा है उनमें शंकर मांझी, जितेंद्र मांझी, राजू मांझी, दुर्लभ रावत, और मुन्ना मांझी का नाम शामिल है। दो लोगों की मौत गांव में ही हो गई थी, जबकि बाकी चार लोगों की मौत सदर अस्पताल से पटना ले जाने के क्रम में रास्ते में हो गई।

इधर इस घटना की सूचना मिलने के बाद डीएम अमित कुमार पाण्डेय सदर अस्पताल पहुंचे करीब एक घंटे तक उनके द्वारा जांच पड़ताल की गई। इसके बाद उन्होंने बताया कि अभी तक कुल तीन लोगों की संदिग्ध हालत में मौत हुई है। जिसकी जांच चल रही है। इसके साथ ही कुल पांच लोगों की तबीयत खराब है जिनका उपचार हो रहा है।

डीएम ने बताया कि पूरे मामले में 10 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। जिलाधिकारी ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि मौत का कारण क्या है। जबकि गिरफ्तार किए गए लोगों को लेकर उनका कहना है कि, यह लोग कुछ गलतियां कर रहे थे जिसके चलते इनकी गिरफ्तारी हुई है।

( हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *