स्वाद में कड़वा लेकिन सेहत के लिए फायदेमंद है करेला

Insight Online News

करेला स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी हाेता है। अकसर करेले का सेवन जूस और सब्जी के रूप में किया जाता है। करेला स्वाद में कड़वा हाेने के साथ ही पाेषक तत्वाें से भी भरपूर हाेता है। करेले को औषधीय गुणों से भरपूर माना जाता है। करेले को आप सब्जी और जूस के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। करेला में फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन ए, सी, ई, के, कैल्शियम और आयरन के गुण पाए जाते हैं। जो शरीर को कई स्वास्थ्य समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं। करेले के सेवन से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है, इतना ही नहीं इसके सेवन से वजन को भी कम किया जा सकता है।

करेले की पत्तिया का इस्तेमाल दाद-खुजली, सिरदर्द, पेट के राेगाें और पैराें की जलन काे दूर करने के लिए किया जा सकता है। इतना ही नहीं इसकी पत्तियां मधुमेह के राेगियाें के लिए भी उपयाेगी हाेती हैं।

  • पाचन संबंधी समस्याएं : करेले में फास्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो कब्ज, गैस, खट्टी डकार, बदहजमी जैसी पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है।
  • दमा रोगियों के लिए : अस्थमा की शि‍कायत होने पर करेला चमत्कारी असर दिखाता है। दमा रोग में करेले की बगैर मसाले सब्जी खाने से लाभ मिलता है।
  • रोग-प्रतिरोधक क्षमता: करेले की पत्त‍ियों को पानी में उबालकर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और किसी भी प्रकार का संक्रमण ठीक हो जाता है।
  • बवासीर : खूनी बवासीर में करेला बहुत फायदेमंद है। एक चम्मच करेले के रस में आधा चम्मच शक्कर मिलाकर पीने से इससे राहत मिल सकती है।
  • त्वचा के लिए भी फायदेमंद : नींबू के रस के साथ करेले के रस को चेहरे पर लगाने से मुंहासे ठीक हो जाते हैं और त्वचा रोग नहीं होते।
  • मुंह के छालों के लिए : करेले का रस निकालकर रूई की मदद से उसे छालों पर लगाएं, इससे छालों में आराम मिलता है।
  • डायबीटीज में फायदेमंद : करेला डायबीटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है। करेले का प्रयोग एक नैचरल स्टेरॉयड के रूप में किया जाता है क्योंकि इसमें कैरेटिन नामक रसायन होता है जिसे लेने से खून में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। करेले में मौजूद ओलिओनिक एसिड ग्लूकोसाइड, शुगर को खून में ना घुलने देने की क्षमता रखता है। यह शुगर लेवल को संतुलित करता है और अग्नाशय को इंसुलिन द्वारा अवशोषित होने से रोकता है। यह शुगर को इकट्ठा कर लेता है और सीधे रक्तधारा में बहाता है।
  • घुटने और सिरदर्द में पहुंचाए लाभ: करेले में दर्द निवारक गुण भी होते हैं। सिरदर्द काफी समय से लगातार होने लगे तो ऐसे में करेला काफी फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए करेले की पत्तियों को पीस लें और फिर इसे माथे पर लगा लें। आराम मिल जाएगा। करेला खाने से घुटने के दर्द से भी राहत मिलती है।
  • लिवर के लिए भी गुणकारी : करेला हमारी पाचन शक्ति को बढ़ाता है जिसके कारण भूख बढ़ती है। करेला ठंडा होता है, इसलिए यह गर्मी से हुई बीमारियों के उपचार के लिए फायदेमंद है। लिवर से संबंधित बीमारियों के लिए तो करेला रामबाण औषधि है। जलोदर रोग होने पर आधा कप पानी में 2 चम्मच करेले का रस मिलाकर ठीक होने तक रोजाना तीन-चार बार सेवन करने से फायदा होता है।
  • फोड़े-फुंसी को करे दूर : अगर आपकी स्किन में कहीं फोड़े-फुंसी हैं तो आप करेले की जड़ को घिसकर फोड़े या घाव वाली जगह पर लगा लें। इससे कुछ ही दिनों में फोड़े में आराम मिलेगा। करेले की जड़ ना मिले तो करेले के पत्ते को पीसकर थोड़ा गर्म करें और पट्टी में बांधकर घाव पर लगा दें, इससे पस निकल जाएगा और घाव में होने वाले दर्द में भी आराम मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.