Black Marketing : ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीफ्लो मीटर की कालाबाजारी के दो मामले उजागर,भाजपा नेता गिरफ्तार

Insight Online News

रतलाम,11 मई : कोरोना कॉल में उपयोग होने वाले चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी के मामले में रतलाम पुलिस ने दो अलग अलग मामलो का पर्दाफाश किया। माणक चौक पुलिस ने दवा व्यवसायी भाजपा नेता राजेश माहेश्वरी को 2250 रुपए का ऑक्सीफ्लो मीटर 4000 रुपए में बेचते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। वही दूसरे मामले में औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाज़ारी का मामला उजागर करते हुए तीन सिलेंडर जब्त किये। इस मामले में पुलिस को दो आरोपियों की तलाश है।

माणक चौक थाना प्रभारी अयूब खान ने बताया मुखबिर से सूचना मिली थी कि नाहरपुरा स्थित एक मेडिकल शॉप पर ऑक्सीफ्लो मीटर की कालाबाजारी हो रही है। इस पर सोमवार रात करीब 9.00 बजे टीम लेकर मुखबिर द्वारा बताई लोकेशन पर पहुंचे तो वहां दवा व्यवसायी राजेश माहेश्वरी की मेडिकल शॉप स्थित मिली। यहां आरोपी राजेश माहेश्वरी को निर्धारित मूल्य से ज्यादा कीमत पर ऑक्सीफ्लो मीटर बेचते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

थाना प्रभारी खान ने बताया ऑक्सीफ्लो मीटर का अधिकतम बाजार मूल्य 2250 रुपए है जबकि आरोपी द्वारा उसे 4000 रुपए में बेचा जा रहा था। आरोपी द्वारा ग्राहक को ज्यादा दाम में बेचे गए ऑक्सीफ्लो मीटर पर अंकित नंबर को भी मिटा दिया गया था। तलाशी लेने पर दुकान से 7 ऑक्सीफ्लो मीटर जब्त किए गए। यह उपकरण ऑक्सीजन सिलेंडर में ऑक्सीजन का फ्लो नियंत्रित करने के काम आता है। मेडिकल शॉप को सील कर दिया गया है। पूछताछ जारी है। मामले में आईपीसी की धारा 420, 188, 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम, 51(b) आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है।

जानकारी के अनुसार आरोपी दवा व्यवसायी राजेश माहेश्वरी पीसी एंड पीएनडीटी एक्ट के तहत प्रसव पूर्व लिंग निर्धारण पर रोक लगाने के लिए गठित समिति में अशासकीय सदस्य है। आरोपी माहेश्वरी भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ के जिला सह संयोजक के रूप में पदस्थ हैं।

ऑक्सीजन सिलेंडर जब्त

औद्योगिक क्षेत्र पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि नयागांव के एक मकान में आक्सिजन सिलैण्डर की कालाबाजारी की जा रही है। सूचना के आधार पर पुलिस ने सोमवार रात को नयागांव कृष्णपुरी के सामने स्थित कुलदीप भट्ट के मकान पर छापा मारा। मकान मालिक कुलदाप भट्ट अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। जब पुलिस ने उक्त मकान की तलाशी ली,तो यहां तीन आक्सिजन सिलैण्डर मिले,जिनमें दो भरे हुए थे,जबकि एक खाली था। पूछताछ के दौरान इसी मकान में एक अन्य व्यक्ति विष्णु चौधरी के रहने की भी जानकारी मिली,लेकिन वह भी फरार है। पुलिस ने उक्त दोनों आरोपियों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनिययम,धोखाधडी और धारा 144 के उल्लंघन का प्रकरण दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES