BSP released the list of 53 candidates : बसपा सुप्रीमो मायावती ने पहले चरण के 53 प्रत्याशियों की सूची जारी कीं

  • समाजवादी पार्टी के दलित महापुरुषों के सम्मान की बात में रत्तीभर सच्चाई नहीं
  • उप्र में बनेगी बसपा की सरकार, सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय होगा मूलमंत्र

लखनऊ, 15 जनवरी । बहुजन समाज पार्टी(बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने आज अपने जन्मदिन पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की पहली सूची जारी की। उन्होंने 58 विधानसभा क्षेत्र में 53 प्रत्याशियों की सूची जारी की हैं।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज मेरा स्वयं का जन्मदिन है, मैं अपने शुभचिंतकों और उन सभी लोगों का जो कोरोना का पालन करते हुए जन्मदिन को जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मना रहे हैं, उनका स्वागत कर रही हूं।

मायावती ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जिन लोगों की मृत्यु हो गयी है, उन लोगों की मदद की गयी है। चुनाव आचार संहिता लगने के कारण हम अब इन लोगों की मदद नहीं कर पा रही हूं।

उप्र में बनेगी बसपा की सरकार, सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय होगा मूलमंत्र

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारी पार्टी की सरकार ने मेरे जन्मदिन पर जनकल्याणकारी दिवस मनाते हुए बहुत सारे कार्यक्रमों में गरीबों की मदद की है। हम फिर से सत्ता में वापस आयेंगे, इस बार हम लौटने के बाद ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय’ पर ही सरकार चलाएंगे।

उत्तर प्रदेश में कानून का राज चलाकर जन सुख शांति के लिए कार्य करेंगे

उन्होंने कहा कि मान्यवर कांशीराम की पुण्यतिथि पर लाखों संख्या में आए कार्यकर्ताओं के बीच जो भी जरूरी बाते की है, उस पर भी अमल किया जाएगा। देश की करोड़ों जनता को कानून के माध्यम से कानून का राज चलाकर जन सुख शांति के लिए कार्य करेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि सन् 2022 उम्मीदों की नई किरण लेकर आ रहा है। आज मैं मेरे द्वारा लिखित पुस्तक को भी जारी किया जा रहा है। जिससे बसपा की अम्बेडकरवादी, मानवतावादी सोच दिखे और कभी न रुके।

कार्यकर्ता घर में ही रहकर पार्टी के पक्ष में करें प्रचार

अपने सन्देश में उन्होंने कहा कि पांच राज्यों में जो कार्यकर्ता घर में मेरा जन्मदिन मना रहे हैं, वे घर में ही रहकर पार्टी के पक्ष में प्रचार करें। इस चुनाव में मेरे विपक्ष की मीडिया को जब कोई मुद्दा नहीं मिल रहा है तो मेरे चुनाव ना लड़ने का मुद्दा ही उठाते है। मैं कई चुनाव लड़ी हूँ।

खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचने वाली मीडिया को मैं जवाब नहीं देना चाहती

उन्होंने कहा कि खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचने वाली मीडिया को मैं जवाब नहीं देना चाहती हूं। आकाश आनन्द के बारे में भी मीडिया बाते कर रहा है, जो मेरे लिए चुनावी राज्यों में प्रचार कर रहा है। मेरा खुद का निजी परिवार नहीं है, मेरे लिए दलित, गरीब शोषित ही मेरा परिवार है।

इशारे में उन्होंने कहा कि मेरे महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र के पुत्र कपिल भी अपने नौजवान साथियों के साथ पूरे जोश के साथ लगे हुए हैं। लगातार प्रचार कर रहे हैं।

सपा की पहली सूची में मुस्लिम की उपेक्षा

समाजवादी पार्टी पर उन्होंने कहा कि सपा की जारी की गयी पहली सूची में मुस्लिम की उपेक्षा की गयी है। बसपा की सूची में इनका ध्यान रखा गया है। साथ ही अपर क्लास का भी ध्यान रखा गया है। समाजवादी पार्टी के दलित महापुरुषों के सम्मान की बात में रत्तीभर सच्चाई नहीं है।

इस अवसर पर बसपा अध्यक्ष मायावती ने मेरे संघर्षमय जीवन एवं बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा, भाग 17 का हिंदी और अंग्रेजी वर्जन का लोकार्पण किया।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *